गुरुग्राम [सत्येंद्र सिंह]। रात में ही पता चल चुका था कि शनिवार सुबह 11 बजे तक अयोध्या मामले का फैसला आ जाएगा। लिहाजा सुबह से ही लोग टेलीविजन के सामने जम गए। कोई घर पर कोई अपने कार्यस्थल पर फैसला सुनने के लिए बेताब दिखा।

जमीन का दावा दो धर्मों की ओर से किया था, फैसला सुनने के लिए दोनों धर्म के लोग साथ बैठे भी नजर आए। फैसला आने के बाद एक दूसरे को बधाई भी दी। सोशल साइट पर भी लोगों ने संदेश वही पोस्ट किए जिससे शांति व्यवस्था बनी रहे। 

अमूमन सुबह दस बजे से शाम तक शहर की सड़कों पर इतना ट्रैफिक हो जाता है कि दो किलोमीटर की दूरी तय करने में भी 25 मिनट से अधिक लगते थे वहीं फैसले के दिन सड़क सूनी पड़ी थी। यही हाल अन्य जगहों पर भी देखने को मिला।

शनिवार को सुबह दस बजे के बाद से भी यहां के विभिन्न मॉल्स में लोगों की आवाजाही तेज हो जाती थी वहीं मॉल्स सूने नजर आए, हालांकि कुछ लोग सुरक्षा इंतजाम भी सख्त होने से घर से नहीं निकले। हुडा व सेक्टरों की मार्केट में भी सन्नाटा रहा।

फैसला आने के बाद लोग चर्चा में मशगूल हो गए। हर कोई यही कहते नजर आया कि सुप्रीम कोर्ट ने सुप्रीम फैसला सुनाया है। इस फैसले से देश में भाई-चारा बढ़ेगा। जब देश में अमन-चैन रहेगा तो देश आगे बढ़ेगा, क्योंकि न तो किसी की हार हुई न किसी की जीत हुई। अगर जीत हुई तो भाई-चारे की हुई। फैसला आने के बाद से शहर में जिस तरह से भाई-चारे का माहौल दिखा उससे नई मिशाल कायम हुई है।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप