जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: फर्जी कॉल सेंटर अनसदिवी इंफोटेक प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक आमिर तुफेल एवं वेबसाइट डिजाइनर पंकज कुमार को साइबर क्राइम टीम ने बृहस्पतिवार दोपहर अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में भोंडसी जेल भेज दिया गया। दोनों को 12 अन्य कर्मचारियों के साथ मंगलवार शाम सोहना रोड स्थित स्पेज आइटी पार्क से गिरफ्तार किया गया। इसी जगह से किराये पर कंपनी का संचालन किया जा रहा था। सभी को बुधवार शाम अदालत में पेश किया गया था, जिनमें से 12 को जमानत दे दी गई और दो को एक दिन के लिए रिमांड पर लिया गया था।

साइबर क्राइम थाना प्रभारी विवेक कुंडू के नेतृत्व में की गई पूछताछ के मुताबिक कॉल सेंटर से नौकरी दिलाने के नाम पर लगभग 150 लोगों के साथ धोखाधड़ी की गई। आरोपित जगह बदल-बदल कर लगभग एक साल से लोगों के साथ धोखाधड़ी कर रहे थे। दो अन्य लोग भी इसमें शामिल हैं। उनकी पहचान हो चुकी है। गिरफ्तारी के लिए टीम ने प्रयास शुरू कर दिया है। साथ ही जिन लोगों के साथ धोखाधड़ी की गई, उनसे संपर्क करने का प्रयास किया जाएगा। इससे पता चल सकेगा कि कुछ कितनी राशि धोखाधड़ी से वसूली गई। नौकरी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी की शिकायत कुछ समय से आ रही थी। फर्जी कॉल सेंटर के पकड़े जाने से शिकायत सच साबित हो गई। शहर में जहां कहीं भी फर्जी कॉल सेंटर चल रहे हैं, उनकी पहचान की जाएगी। मौका मिलते ही इस तरह छापेमारी की जाएगी कि आरोपित आसानी से पकड़ में आ सकें।

- शशांक कुमार सावन, पुलिस उपायुक्त (मुख्यालय), गुरुग्राम

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस