जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: आबकारी विभाग गुरुग्राम में तैनात निरीक्षक संदीप कुमार द्वारा उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के नाम पर 15 साल पुरानी विदेशी शराब (ग्लेनफिडिच) की छह बोतल शराब ठेके से मांगने का मामला सामने आया है। उसने पांच-छह दिन पहले शराब मांगी थी। जब शराब नहीं उपलब्ध कराई गई तो उसने 15 अगस्त को शराब ठेका खुला दिखाकर उसे सील कर दिया।

बताया जाता है कि शराब मांगे जाने से संबंधित बातचीत का आडियो भी है। इस बात की शिकायत ठेकेदार ने बुधवार को आबकारी उपायुक्त रविद्र सिंह से कर दी। इसके आधार पर बुधवार को ही जांच कमेटी बनाई गई। जांच से साफ हो गया कि शिकायत सही है। पहले ठेके को खोला गया, फिर आबकारी निरीक्षक की शिकायत चंडीगढ़ मुख्यालय को भेज दी गई। ऊपर शिकायत पहुंचते ही उसे गुरुग्राम से चंडीगढ़ मुख्यालय स्थानांतरित कर दिया गया।

आबकारी उपायुक्त रविद्र सिंह ने मामले की पुष्टि करते हुए कहा कि आबकारी निरीक्षक ने उप-मुख्यमंत्री के नाम को बदनाम किया है। उसने ऐसी हरकत की है जिसकी जितनी निदा की जाए, वह कम है। उसके विरुद्ध विभागीय जांच शुरू कर दी गई है। जांच के आधार पर उसके विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। किसी भी कीमत पर गलत बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

बता दें कि आबकारी विभाग में तैनात कई अधिकारियों पर पहले भी आरोप लग चुके हैं। जिले में विभागीय अधिकारियों की फौज है, इसके बाद भी बिना अनुमति के शराब ठेके से लेकर अहाता संचालित किए जाने की शिकायत सामने आती रहती है। पिछले दो महीने के दौरान अवैध रूप से संचालित चार अहाते सीएम फ्लाइंग स्क्वाड की गुरुग्राम टीम द्वारा पकड़े जा चुके हैं।

Edited By: Jagran