जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: मतगणना का प्रत्याशियों को बेसब्री से इंतजार है। मतदान के बाद दो दिन बहुत ही मुश्किल से प्रत्याशियों ने व्यतीत किए। कड़ी टक्कर के कारण वह यह नहीं समझ पा रहे कि वह विजयी होंगे या नहीं। अब जब आज मतगणना के बाद तस्वीर साफ हो जाएगी तब प्रत्याशियों को राहत मिलेगी। इन तीन दिनों में प्रत्याशियों ने कार्यकर्ताओं की मदद से बूथों की जानकारी लेकर अपने हिसाब से हार-जीत का आंकलन कर समय व्यतीत किया।

गुड़गांव विधानसभा क्षेत्र हो या फिर बादशाहपुर दोनों जगह ही कौन प्रत्याशी जीतेगा इसको लेकर स्थिति साफ नहीं है। भले ही अनुमान लगाए जा रहे लेकिन प्रत्याशियों को मतदान के बाद मतगणना के दिन तक समय व्यतीत करने में खासी दिक्कत हुई। इन तीन दिन में प्रत्याशियों को न तो दिन में आराम मिला न ही रात में नींद आ रही है। खुद प्रत्याशी मानते हैं कि हर कार्यकर्ता उनकी जीत का दावा कर रहा है लेकिन उन्हें इस पर एतबार नहीं। कारण मुकाबला कड़ा था और हार-जीत भी नजदीकी रहेगी। इसके चलते जब तक मतगणना के बाद स्थिति साफ नहीं होगी तब तक तीन राजनीतिक दल के प्रत्याशियों का समय भी नहीं कट रहा, हालांकि वह जीत का भले ही दंभ भर रहे लेकिन अंदर ही अंदर वह खासे परेशान हैं। दुविधा में हैं कि आखिरकार मतदाताओं ने क्या संदेश दिया है।

बादशाहपुर में दो प्रत्याशियों के बीच सीधी-सीधी टक्कर है। दोनों ही जीत का दावा कर रहे लेकिन हकीकत क्या होगी इसका फैसला तो बृहस्पतिवार को होगा, हालांकि दोनों प्रत्याशी मानते हैं कि कड़ी टक्कर है और हार-जीत का अंतर बहुत कम होगा। इसी प्रकार के कुछ हालात गुड़गांव में भी है। सोहना तथा पटौदी विधानसभा सीट पर भी दो प्रत्याशियों के बीच टक्कर है। दोनों ही ओर से जीत के दावे किए जा रहे हैं। जीत-हार का रुझान सुबह दस बजे तक साफ नजर आने लगेगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस