जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: शादियों का मौसम सोमवार से शुरू हो रहा है। इस शुरुआत को धमाकेदार कह सकते हैं, क्योंकि इस माह में इसके बाद कोई शादी का मुहूर्त नहीं है। दिसंबर के दूसरे सप्ताह में इसके बाद विवाह मुहूर्त हैं। देवोत्थान एकादशी सोमवार को है, इस दिन शादियों को अबूझ साया होता है। मंदिरों में तुलसी शालिग्राम विवाह और पूजन होगा। विवाह के लिए यह तिथि काफी महत्वपूर्ण होती है। इस दिन दूसरे शुभ कार्य भी शुरू हो जाते हैं। कहा जाता है कि इस दिन भगवान विष्णु नींद से जागते हैं।

देवोत्थान एकादशी पर विवाह कार्यक्रमों के लिए शीतला माता रोड, ओल्ड दिल्ली रोड, पालम विहार रोड और एमजी रोड में बने उत्सव स्थल सजाए जा रहे हैं। शहर का कोई भी विवाह स्थल सोमवार को खाली नहीं है। उत्सव स्थल के प्रबंधकों के मुताबिक कई महीने पहले लोगों ने बु¨कग करा ली है। शहर में करीब 80 बड़े और मझोले विवाह स्थल हैं। जिन लोगों को विवाह स्थल नहीं मिल पाए हैं वे सामुदायिक भवन और घरों के पास टेंट लगाकर आयोजन करेंगे।

कर्मकांडी पंडित संघ के अध्यक्ष अमरचंद भारद्वाज बताते हैं कि सोमवार को काफी संख्या में शादियां गुरुग्राम में होंगी। यह अबूझ साया कन्या की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण होता है। जिनकी शादी में अड़ंगा लगता रहता है, उनकी शादी इस दिन हो सकती है। इसलिए सोमवार को सामान्य पूजा पाठ के लिए तो कोई भी पंडित खाली नहीं होगा। एक पंडित हालांकि रीति रिवाज से कराए तो एक ही शादी करा सकता है मगर सोमवार को पंडितों की भी मारामारी रहेगी।

दिल्ली रोड स्थित विवाह स्थल निकुंज, गुरुग्राम के नॉ¨टग हिल्स और ज्वेल गार्डन प्रमुख विनोद सैनी बताते हैं कि सोमवार के बाद दिसंबर में विवाह का मुहुर्त है, इसलिए इस दिन कोई भी उत्सव गार्डन खाली नहीं। विवाह स्थलों को सजाए जाने का काम चल रहा है।

ब्यूटी पार्लरों में तो पिछले महीने से शादियों की तैयारी के सत्र चल रहे हैं। दूल्हा-दुल्हन के लिए विशेष पैकेज की तैयारी है। ब्यूटीशियन सत्यवती ने बताया कि आजकल पूरे परिवार को ब्यूटी पार्लर में आकर सेवाएं लेनी होती है। दुल्हनों की तैयारी तो कई चरणों में चल रही है। अभी परिवार वाले भी सेवाएं लेने पहुंच रहे हैं। सोमवार को तो बिल्कुल फुरसत नहीं। दुल्हन और उनके परिवार के लोगों को सजाने का काम होगा। सदर बाजार और सेक्टर मार्केट में मेंहदी लगवाने वाली महिलाओं की संख्या अच्छी खासी रही। रविवार को हालांकि सदर बाजार बंद था मगर मेंहदी वाले मौजूद थे। ट्रैफिक डायवर्ट किया जा सकता है

सबसे अधिक समारोह स्थल दिल्ली रोड व शीतला माता रोड पर हैं। यहां पर पचास पुलिस कर्मी लगाए जाएंगे। वाहनों का दबाव अधिक बढ़ने पर आम वाहनों को अतुल कटारिया चौक से एक्सप्रेस-वे की ओर तथा पालम विहार से आने वाले आम वाहनों को सेक्टर पांच की ओर निकाला जाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस