जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: जिले में कोरोना संक्रमण से होने वाली मृत्यु दर में गिरावट दर्ज की गई है। अब कोरोना की वजह से होने वाली मृत्यु की दर घटकर 0.85 प्रतिशत रह गई है। इस बात की जानकारी उपायुक्त अमित खत्री ने दी। उन्होंने बताया कि जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की पहचान के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा सघन जांच व ट्रेसिग अभियान चलाया जा रहा है।

उपायुक्त ने कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों की समय रहते पहचान होने से संक्रमण की रफ्तार को कम किया जा सकता है। जिला प्रति मिलियन जांच के मामले में प्रदेश में पहले स्थान पर है। यहां पर प्रति मिलियन 1,67,660 लोगों की जांच की जा रही है। इसके लिए विभिन्न क्षेत्रों में एंटीजन जांच किट के माध्यम से भी जांच अभियान चलाए जा रहे हैं। जिन लोगों में कोरोना संक्रमण के लक्षण होते हैं वे इन शिविरों में जाकर नि:शुल्क टेस्ट करवा सकते हैं। जिले में टेस्टिंग के लिए क्षेत्रवार शेड्यूल तैयार किया गया है। अब तक जिले में लगभग 828 जांच शिविर विभिन्न स्थानों पर लगाए जा चुके हैं। कैंप लगाने का सिलसिला अभी जारी है।

उपायुक्त ने बताया कि कोरोना संक्रमण को लेकर लोगों में जागरूकता भी बढ़ रही है। सिविल सर्जन डॉ. विरेंद्र यादव ने बताया कि प्रयास यह किया जा रहा है कि लोगों को अधिक से अधिक स्वास्थ्य सुविधाएं दी जाएं। कोविड संक्रमण के बचाव से संबंधित उपायों के बारे में लोगों को लगातार बताया जा रहा है। आयुष विभाग द्वारा जिले में दो लाख से अधिक इम्युनिटी किट का वितरण किया जा चुका है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस