संवाद सूत्र, टोहाना :

प्रतिपक्ष नेता अभय चौटाला के नेतृत्व में आयोजित इनेलो-बसपा गठबंधन की जन अधिकार यात्रा शनिवार को टोहाना की मिर्च मंडी में पहुंची। जहां इनेलो हलका प्रधान हरी ¨सह महरियां सहित जिलाध्यक्ष बल¨वद्र कैरों, रतिया विधायक र¨वद्र बलियाला, फतेहाबाद के विधायक बलवान ¨सह दौलतपुरिया, सांसद चरणजीत रोड़ी, युवा नेता कुनाल कर्ण ¨सह, बसपा जिला प्रधान एडवोकेट पीएस फानर, फतेहाबाद हलका प्रधान भरत ¨सह पनिहार, डा. मीरानंदा, गुरचरण अमानी, राजपाल सैनी, साधुराम कन्हड़ी, बलवंत गाजूवाला, पूर्व चेयरमैन रघबीर भील, बसपा हलका प्रधान जयदयाल डांगरा, एडवोकेट सत्यवान डुल्ट, धर्मबीर कन्हड़ी, चरणजीत ठरवी, महाराज कन्हड़ी, आशीष बंसल जाखल, डा. केशव मित्तल, पवन ¨सगला, लवलीन, अमृत सैनी, नरेश नैन, मुकेश बंसल, वरूण गोयल आदि सहित अनाज मंडी प्रधान तरसेम बांसल ने स्वागत किया। अभय चौटाला ने कहा कि उनकी इस जनअधिकार यात्रा का उद्देश्य मौजूदा सरकार को हरियाणा की जीवन रेखा एसवाईएल नहर का निर्माण करवाना है। जिसे वह टालने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि इसके लिए वह केंद्र सरकार को मजबूर करने का काम करेंगे। उन्होंने कहा कि आज किसान को उसकी फसल का समर्थन मूल्य नहीं मिल रहा है। जबकि सरकार ने सत्ता में आने से पहले बहुत वादे किये थे लेकिन वह किसी भी वादे पर खरा नहीं उतरी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार कर्मचारियों पर एस्मा लगाकर उन्हें प्रताड़ित करने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार को चार हजार बसें खरीदनी चाहिये थी लेकिन वह रोडवेज को बंद करने की योजना बना रही है। जबकि अपने चहतों को निजी परमिट देकर मालामाल करने में लगी हुई है। उन्होंने दावा किया कि आने वाले चुनाव में देश की प्रधानमंत्री मायावती व प्रदेश में इनेलो-बसपा गठबंधन की सरकार बनेगी। उन्होंने इनेलो में पिछले दिनों हुई फूट पर कहा कि कुछ लोग पीठ में छूरा घोंपने का काम कर रहे थे। उन्होंने टोहाना के पूर्व विधायक निशान ¨सह का नाम न लेते हुए कहा कि पिछले समय में इनेलो ने उसे अपनी टिकट पर चुनाव लड़वाकर विधायक बनवाया था। जो अब अपने आप को फन्ने खां समझ रहा है। उन्होंने कहा कि वह अबकी बार टोहाना विधानसभा से चुनाव लड़कर तो देखे उसकी जमानत जब्त करवाने का काम होगा। उन्होंने नगर निगम चुनाव पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि इन चुनाव में कांग्रेस तो मैदान छोड़ कर भाग चुकी है। जबकि भाजपा की हालत ऐसी है कि इनमें पार्टी कैडर का कोई भी व्यक्ति चुनाव लड़ने में सक्षम नहीं है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस