जागरण संवाददाता, फतेहाबाद : कोरोना से लगातार मामले बढ़ रहे हैं। मामलों से ज्यादा खतरनाक मौत है। शनिवार को फिर कोरोना से 2 लोगों की मौत हो गई। ऐसे में इस महीने में अभी तक 29 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। जो कोरोना काल के एक महीने में सबसे अधिक है। ऐसे ही कोरोना से मौत होती रही तो स्थिति भयानक होने वाली है। हालांकि राहत की बात यह है कि कोरोना से ठीक होने का आंकड़ा अभी ठीक है। शनिवार को कोरोना से 48 लोग ठीक हुए। वहीं गत दिनों सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों के कोरोना सैंपल लिए गए थे। अब तक आई रिपोर्ट के अनुसार एक भी विद्यार्थी कोरोना पॉजिटिव नहीं पाया गया। ऐसे में विद्यार्थी व उनके अभिभावकों को बड़ी राहत मिल गई।

शनिवार को शहर के आरके कालोनी के 91 वर्षीय बुजुर्ग की कोरोना से मौत हो गई। वे शहर की एक निजी अस्पताल में दाखिले थे। वहीं शहर के मुख्य बाजार निवासी 51 वर्षीय व्यक्ति की कोरोना से मौत हुई। ये हिसार के निजी अस्पताल में उपचाराधीन थे। जिले में अब तक हुई 89 मौत, 29 इसी महीने में :

जिले में कोरोना के अब 4 हजार कोरोना के मामले आए हैं। इनमें से महज 89 लोगों की मौत हुई है। हालांकि इसी महीने ही 29 लोगों की कोरोना से मौत हो गई। अब 21 दिनों में 29 लोगों की मौत एक बहुत बड़ा आंकड़ा है। ऐसे में बढ़ती सर्दी में कोरोना से बचाव जरूरी है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि कोरोना से बचाव ही सुरक्षा। जन स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने दिए सैंपल :

जन स्वास्थ्य विभाग के दो कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव आने के बाद शनिवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जाकर जनस्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों व अधिकारियों के सैंपल लिए। इस दौरान विभाग के कार्यकारी अभियंता आदर्श सिगला के आदेश पर विभाग के सभी कर्मचारियों व अधिकारियों ने सैंपल दिए। रतिया के विद्यार्थियों की रिपोर्ट आई नेगेटिव :

स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा वीरवार व शुक्रवार को रतिया शहर के दो सरकारी स्कूलों के अलावा एक निजी स्कूल के करीब 300 बच्चों के लिए गए कोरोना सैंपल लिए गए थे। प्रथम रिपोर्ट के तहत राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय तथा स्वामी दयानंद स्कूल के करीब 200 बच्चों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है, जिसको लेकर स्कूल प्रबंधकों के अलावा बच्चों के अभिभावकों ने काफी राहत महसूस की है। स्वास्थ्य विभाग ने पिछले 2 दिनों के अंतराल में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय तथा स्वामी दयानंद स्कूल के करीब 500 से भी अधिक बच्चों के कोरोना सैंपल लिए गए थे, जिसके तहत प्रथम दिन लिए गए सैंपल की 300 में से आई रिपोर्ट के आधार पर राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय तथा स्वामी दयानंद स्कूल के करीब 200 बच्चों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। इसकी पुष्टि करते हुए हैल्थ इंस्पेक्टर राजेश श्योकंद ने बताया कि उपरोक्त स्कूलों की रिपोर्ट के तहत अच्छे संकेत मिले हैं और संभावित है की अन्य आने वाली रिपोर्ट भी नेगेटिव आएगी। बचाव ही सुरक्षा : सीएमओ

सरकार कोरोना के बचाव के लिए प्रयास कर रही है। आमजन स्वास्थ्य विभाग के हिदायतों का पालन करें। अब बचाव ही सुरक्षा है। सर्दी का मौसम बढ़ने के कारण फिर से बीमारी अधिक तेजी से फैलनी शुरू हो गई। मेरा आमजन से आग्रह है कि वे मास्क का प्रयोग करे। भीड़ वाले स्थानों पर न जाए।

- डा. मनीष बंसल, सीएमओ, स्वास्थ्य विभाग।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस