संवाद सूत्र, भिरडाना :

जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की लापरवाही गांव भिरडाना के ग्रामीणों के लिए कभी भी मुसीबत का कारण बन सकती है। पानी को साफ करने के लिए डाले जाने वाली क्लोरीन गैस के सिलेंडर खुले मे रखे है। इन सिलेंडर के रखने के लिए बकायदा एक पिजरा भी जलघर में है, लेकिन सिलेंडर को बाहर खुले मे रखा हुआ है। जलघर मे रखे इन दो सिलेंडरों पर चाबी भी लगा रखी है। कोई भी शरारती तत्व इनमें से गैस लीक कर सकता है। ग्रामीणों ने कहा की विभाग के अधिकारी जलघर में आते है और चले जाते है। गांव मे जगह जगह पाइपलाइन लीकेज है लेकिन विभाग के जेई अश्विनी कुमार को बार कहने पर भी लीकेज की और कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। जिससे गांव के लोगों को गंदा पानी पीना पड़ रहा है। वहीं ग्रामीणों ने बताया की जलघर मे दिन मे कोई नहीं रहता, अगर कोई शरारती तत्व इन सिलेंडरों से छेड़छाड़ कर दे तो कोई भी बडा़ हादसा हो सकता है।

----------------------------------------

वर्ष 2017 मे हुआ था बडा हादसा

वर्ष 2017 मे गांव नागपुर के जलघर मे मे भी क्लोरीन गैस के सिलेंडर खुले मे रखे थे। उस समय किसी कारण से इन सिलेंडरों की गैस लीक हो गई थी। जिससे कई लोग बेहोश हो गये थे। उस समय बहुत मुश्किल से इस पर काबू पाया गया था। ग्रामीणों का उपचार भी किया गया था।

----------------------------------

गैस सिलेंडर बाहर पडे़ है तो मैं कर्मचारी को कहकर रखवा देता हूं। लीकेज होने की यहां कोई समस्या नहीं आई है।

अश्विनी कुमार, जेई जनस्वास्थ्य विभाग फतेहाबाद।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप