जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

दूसरों की सुरक्षा का जिम्मा उठाने वाले अधिकारी के कार्यालय की सुरक्षा राम भरोसे है। लघु सचिवालय के मुख्य द्वार पर शाम होते ही अंधेरा छा जाता है। वहीं अधिकारियों की आवासीय कालोनी के मुख्य द्वार का भी यही हाल है। हद तो यह है कि लघु सचिवालय का गेट पर न तो कैमरे लगे हुए न ही सिक्योरिटी गार्ड तैनात रहते हैं। ऐसे में कभी भी किसी प्रकार की अप्रिय घटना हो सकती है। दैनिक जागरण के संवाददाता ने मंगलवार रात को करीब 10 बजे लघु सचिवालय प्रांगण का दौरा किया। जिसमें सामने आया कि रात को लघुसचिवालय की सुरक्षा को लेकर अधिकारी गंभीर नहीं है। जो अधिकारी जिले की सुरक्षा को लेकर अक्सर बैठकों मे चितित दिखाई देते हैं। उनके लिए योजनाएं बनाते है। जबकि उनकी खुद की सुरक्षा से जुड़े लघु सचिवालय को लेकर ऐसा कुछ नजर नहीं आया।

लघु सचिवालय के मुख्य द्वार पर ही अंधेरा पसरा हुआ दिखाई दिया। सिक्योरिटी गार्ड तो दूर की बात। लघु सचिवालय के तहसील कार्यालय व ट्रेजरी ऑफिस भूमि तल पर ही निर्भर है। ऐसे में उचित सुरक्षा व्यवस्था न होने से कभी चोरी व अन्य प्रकार की घटनाएं हो सकती है। इसी तरह लघु सचिवालय के साथ लगती अधिकारियों की आवासीय कालोनी के मुख्य द्वार पर भी न तो स्ट्रीट लाइट की उचित व्यवस्था न ही किसी प्रकार की सिक्योर्टी के प्रबंध।

-----------------

स्ट्रीट लाइट खराब, बढ़ा रही परेशानी :

व्यवस्था की विड़ंबना यह है कि लघु सचिवालय के मुख्य द्वार पर स्ट्रीट लाइट नहीं है। ऐसे में परेशानी बढ़ जाती है। दोनों लघु सचिवालय व आवासीय कालोनी के मुख्य द्वार पर लंबे समय से स्ट्रीट लाइट खराब है। वहीं लघु सचिवालय से सदभावना अस्पताल तक नगर परिषद ने अनेक स्ट्रीट लाइट लगा दी। लेकिन शहीद स्मारक व लघु सचिवालय के गेट के आसपास अंधेरा छाया रहता है। हद तो यह है कि अधिकारी जानबुझकर इस समस्या की तरफ ध्यान ही नहीं दे रहे। तभी लघु सचिवालय की सुरक्षा को लेकर उचित प्रबंध नहीं किए जा रहे।

-------------------------------------

सुरक्षा को लेकर गत दिनों बैठक हुई थी। जिसमें निर्णय लिया गया था कि जहां पर कैमरे नहीं है, वहां पर कैमरे लगाए जाएंगे। लघु सचिवालय में भी कैमरे लगाए जाएंगे। इसके अलावा स्ट्रीट लाइट व सिक्योरिटी गार्ड को लेकर उचित प्रबंध किया जाएगा। लघु सचिवालय की बिल्डिग की सुरक्षा को लेकर प्रशासन गंभीर है।

- अनुभव मेहता, सीटीएम, फतेहाबाद।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस