संवाद सूत्र, रतिया :

ठंड शुरू होते ही जिला प्रशासन भी दुर्घटनाओं को कम करने के लिए कदम उठाने शुरू कर दिये है। रतिया शहर में अब सुबह के समय बड़े वाहनों की नो एंट्री होगी। इसके लिए रतिया पुलिस को आदेश दिए गए है। शहर के बाहर होमगार्ड व पुलिस की तैनाती की जाएगी ताकि बड़े वाहन शहर में प्रवेश ना कर सके। इसके लिए एसडीएम सुरेंद्र सिंह बेनीवाल की अध्यक्षता में बुधवार को रोड सेफ्टी की बैठक ली। उन्होंने कहा कि जीवन अनमोल है स्वयं की रक्षा करना व दूसरों की सुरक्षा करना भी हमारी नैतिक जिम्मेदारी है। रोड सेफ्टी संबंधित कार्यों में ढिलाई व कोताही बरतने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। एसडीएम ने आरटीओ विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी स्कूल वाहनों की चेकिग की जाए। जिन वाहनों के आवश्यक दस्तावेज पूरे नहीं पाए जाते हैं, उनका चालान किया जाए।

-----------------

स्कूल वैन की करे जांच

स्कूल बसों पर रिफ्लेक्टर होना बहुत जरूरी है जिससे दुर्घटना से बचा जा सके। कोई भी स्कूल बस ओवरलोड नहीं होनी चाहिए व बसों में कैमरे लगे होने चाहिए। चालान से संबंधित ब्योरा उपमंडल कार्यालय में भेजना सुनिश्चित करें। उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को आदेश दिए कि जागरूकता अभियान के माध्यम से बच्चों को रोड सेफ्टी के बारे में जागरूक किया जाए।

----------------------

सड़क के दोनों तरफ सफेद पट्टी लगवाने का कार्य सुनिश्चित हो

पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारियों को आदेश दिए कि सड़क के दोनों और सफेद पट्टी का कार्य सुनिश्चित करे, जिससे दुर्घटना से बचा जा सकेगा। इसके अलावा उन्होंने बस स्टैंड के एंट्री व एग्जिट गेट पर स्टैंडर्ड ब्रेकर बनाने के आदेश दिए। वन विभाग के अधिकारियों को आदेश दिए कि सड़कों पर लगे साइन बोर्ड के आगे जो वृक्षों की टहनियां है उनकी कटाई-छटाई का कार्य सुनिश्चित किया जाए। परिवहन विभाग व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को आदेश दिए कि रोडवेज बस के चालकों की आंखों का चेकअप किया जाए।

---------------

ये थे मौजूद

इस अवसर पर नगरपालिका सचिव सुरेंद्र सिंह, रतिया बस अड्डा इंचार्ज कृष्ण कुमार, आरटीओ विभाग से सविदर सिंह, ट्रांसपोर्ट इंस्पेक्टर सुरेंद्र सिंह, रोड सेफ्टी एसोसिएट अमन वाटस, संजीव जिदल, वन विभाग से डिप्टी रेंजर वीरेंद्र कुमार, शिक्षा विभाग से अंजू रानी, पीडब्ल्यूडी से जेई चंद्र मोहन आदि उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप