जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

इनेलो विधायक बलवान ¨सह दौलतपुरिया कहा कि कानूनी आदेश का हवाला देकर भाजपा सरकार पराली न जलाने देने के नाम पर किसानों के उपर तानाशाही डंडा चला रही है। लेकिन सही मायनों में यह पराली संकट किसानों का नहीं, बल्कि सरकार द्वारा इस समस्या का स्थाई हल न खोज पाने का नतीजा है। वे शुक्रवार सुबह अनाज मंडी में धान की आवक व इसकी खरीद कार्य के दौरान किसानों-व्यापारियों की समस्याओं जानने उपरांत उन्हें संबोधित कर रहे थे। इस दौरान किसानों ने पराली न जलाए जाने की समस्या को उनके लिए गंभीर संकट बताया। विधायक ने किसानों को आश्वस्त किया कि वे जिला प्रशासन के अधिकारियों से बात करके उनसे आग्रह करेंगे कि किसानों की पराली को न जलाए जाने की स्थिति में उसके निदान का भी प्रबंध करें ताकि किसान को अगली फसल लगाने में परेशानी न हो। बलवान दौलतपुरिया ने कहा कि भाजपा सरकार भी पूर्व की कांग्रेस सरकार के नक्शे कदम पर चलते हुए केवल मात्र हवाई घोषणाएं करके कर्मचारी, मजदूर व किसान वर्ग के लिए कल्याणकारी कदम उठाने का दंभ भर रही है। लेकिन जमीनी स्तर पर उसके तमाम दावों की पोल इन 3 सालों में खुल चुकी है। व्यापारी वर्ग को अनाप-शनाप नियमों के नाम पर इस सरकार ने बर्बाद करने में कोई कसर नहीं छोड़ी तो किसानों के लिए भी भाजपा सरकार अब तक कोई एक भी बड़ा राहत भरा काम नहीं कर पाई है। जो पानी किसानों की जीवनरेखा

कहलाता है, उसी पानी की एक-एक बूंद के लिए सरकार किसानों को तरसाने का काम कर रही है। किसानों से आह्वान किया कि वे सरकार के किसी तरह के दबाव में न आएं और यदि उन्हें किसी भी तरह की परेशानी मंडी में धान की आवक व खरीद के दौरान या फिर फसलों की बुआई के दौरान आती है तो इसके बारे में उन्हें सूचित जरूर करें। वे उनकी आवाज को एक सच्चा जनप्रतिनिधि होने के नाते न केवल सरकार तक पहुंचाने का काम करेंगे। प्रदर्शन या सड़कों पर उतर उनकी आवाज बुलंद करने से भी पीछे नहीं हटेंगे। इस अवसर पर उनके साथ शहरी प्रधान पवन चुघ, विकास मेहता, विजय कुमार, धीरज शर्मा सहित क्षेत्र के अनेक किसान व गणमान्य लोग उपस्थित थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप