जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

सरकार द्वारा कर्मचारियों से की गई वादाखिलाफी पर बातचीत न करके दमनकारी नीति अपनाने के विरोध में सर्व कर्मचारी संघ के आह्वान पर जिलेभर के सैकड़ों कर्मचारियों ने शहर में जोरदार रोष प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। प्रदर्शन की अध्यक्षता सर्व कर्मचारी संघ के जिला प्रधान भूप ¨सह भड़ोलांवाली ने की व संचालन जिला सचिव कृष्ण नैन ने किया। संघ के राज्य कोषाध्यक्ष राजेन्द्र प्रसाद बाटू, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सरबत ¨सह पूनिया व अजय वशिष्ठ ने कहा कि लोकतंत्र में संवैधानिक तरीकों से शांतिपूर्ण सभी को अपनी बात रखने का हक है। एक जनकल्याणकारी सरकार की यह जिम्मेदारी है कि वह सभी के जायज मुद्दों को बातचीत से सुलझाए, परंतु हरियाणा की भाजपा सरकार बातचीत से समस्याएं सुलझाने की बजाय कर्मचारियों पर लाठी बरसाई जा रही है। संघ के जिला प्रधान भूप ¨सह ने कहा कि फतेहाबाद में बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कर्मचारी व आरोही स्कूल के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे है लेकिन सरकार व प्रशासन बातचीत करने तक को तैयार नहीं है। 9 दिन से धरने पर बैठे आरोही स्कूल के कर्मचारियों को नियमों के विरूद्ध हटाया गया है। उन्होंने इन कर्मचारियों को दोबारा ड्यूटी पर लेने की मांग की वरना सर्व कर्मचारी संघ भी इनके आंदोलन में कूदने को मजबूर होगा। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों को चुप करवाने के लिए काले कानून एस्मा व लाठीचार्ज जैसी कार्रवाई कर रही है जिसे कर्मचारी वर्ग किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगा। प्रदर्शन को खेत मजदूर यूनियन के राज्य अध्यक्ष रामकुमार बहबलपुरिया, रिटायर कर्मचारी संघ के खंड प्रधान बेगराज, सर्व कर्मचारी संघ के खंड प्रधान प्रदीप यादव, सीआइटीयू से रमेश जांडली, नगरपालिका से रमेश तुषामड व सभी विभागों के प्रधान व सर्व कर्मचारी संघ के खंड प्रधानों ने भी संबोधित किया।

Posted By: Jagran