जागरण संवाददाता, फतेहाबाद:

जिलावासियों को पिछले पांच दिनों से सूर्यदेव के दर्शन नहीं हो रहे थे। जिससे आमजन परेशान नजर आ रहा था। शनिवार सुबह मौसम देखकर कम ही लग रहा था कि आज भी सूरज निकलेगा। लेकिन दोपहर साढ़े 12 बजे आसमान से जैसे ही बादल छंटे तो सूर्यदेव के दर्शन हो गए। पांच दिन बाद सूरज निकलने के कारण लोग धूप में बैठे हुए नजर आए। दिन के समय पार्कों में रौनक गायब थी वो देखी गई। शनिवार को जिले में पांच घंटे तक अच्छी धूप रही। जिससे ठंड से राहत मिली। लेकिन कमरों के अंदर ठंड अधिक रही। जैसे ही सूर्य की किरण मकान पर पड़ी तो अंदर के क्षेत्र में नमी अधिक होने के कारण ठंड का अहसास भी अधिक रहा। शनिवार को अधिकतम तापमान 18 डिग्री व न्यूनतम तापमान छह डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

बेशक पांच दिन बाद सूरज निकला है, लेकिन आने वाले दिनों में स्थित ऐसी ही रहने वाली है। शनिवार को धूप निकलने के कारण अब रविवार को धुंध छाने की पूरी उम्मीद है। लेकिन 17 जनवरी को फिर एकाएक मौसम में बदलाव होगा। मौसम वैज्ञानिकों ने पश्चिमी विक्षोभ का असर होने की संभवना जताई है। ऐसे में 19 जनवरी तक बादल रहने के साथ हल्की बूंदाबांदी हो सकती है। लेकिन तेज बरसात की संभावना नहीं है। ऐसे में जिला वासियों को ठंड से राहत नहीं मिलने वाली। बाजारों में लौटी रौकन

पिछले कई दिनों से बाजार में मंदी थी। इसका मुख्य कारण ठंड को माना जा रहा था। लेकिन शनिवार को एकाएक बाजार में भीड़ नजर आई। सुबह के समय भीड़ नहीं दी। लेकिन दोपहर से लेकर शाम तक भीड़ नजर रही। वहीं धूप सेकने के लिए लोग छतों पर खड़े रहे। सबसे अधिक राहत छोटे बच्चों को मिली है। पिछले पांच दिनों से घरों में कैद थे, लेकिन धूप निकलने के कारण अभिभावक छतों पर बैठे रहे। धुंध छाने की उम्मीद है। ऐसे में तापमान में गिरावट आएगी। 17 जनवरी को फिर मौसम बदलेगा और बादलवाई रहेगी। ऐसे में तापमान में और गिरावट आएगी। किसान मौसम को देखकर ही सिचाई करें।

डा. मदन लाल खिचड, वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक हिसार।

Edited By: Jagran