जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : विश्व हिदू परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री मिलिद परांडे ने नागरिकता संशोधन अधिनियम(सीएए)को वक्त की जरूरत बताया है। उन्होंने सीएए के विरोध की आड़ में राष्ट्रीय संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। मिलिद परांडे बुधवार को औद्योगिक नगरी के मंदिर-गुरुद्वारों व अन्य सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ सीएए और श्रीराम मंदिर के निर्माण के संबंध में गोष्ठी को संबोधित करने आए थे। उनके साथ विहिप के प्रांतीय अध्यक्ष रमेश गुप्ता व विभागाध्यक्ष प्रेम गोयल भी थे।

गोष्ठी से पूर्व पत्रकार वार्ता में विहिप महामंत्री ने कहा कि सीएए का संबंध सिर्फ पाकिस्तान, अफगानिस्तान तथा बांग्लादेश में धार्मिक ²ष्टि से प्रताड़ित अल्पसंख्यकों (हिदू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी तथा ईसाई) शरणार्थियों से है, जो भारत में शरण लेने के लिए आए हैं। सीएए कानून में कहीं भी किसी की भी नागरिकता छीनने की कोई बात नहीं है, बल्कि नागरिकता देने की बात है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ दिनों में ही पाकिस्तान में तीन से ज्यादा हिदुओं और सिख कन्याओं का अपहरण कर जबरन शादी कर मुसलमान बनाया गया है, जो अपने देश में सीएए की आवश्यकता की और पुष्टि कर रहा है।

उन्होंने हाल ही में झारखंड के लोहरदगा में सीएए के समर्थन में निकली रैली में हिसक भीड़ के हमले, जिसमें अनेक हिदू घायल हुए और अनेक हिदुओं के घर जलाए गए तथा नीरज राम प्रजापति की दुर्भाग्यपूर्ण हत्या की कड़ी निदा करते हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग की।

मिलिद परांडे ने कहा कि सरकारी पैसे से मंदिर नहीं बनना चाहिए। मंदिर निर्माण के लिए पत्थरों की गढ़ाई विगत 27 वर्षों से अयोध्या में चल रही है, जो पूर्ण होने को ही है। इन्हीं पत्थरों से और रामभक्तों के पैसों से मंदिर का निर्माण होना चाहिए। उन्होंने कहा कि श्री राम जन्मभूमि आंदोलन के इस यश के निमित्त, आने वाले चैत्र नवरात्रि के दौरान 25 मार्च वर्ष प्रतिपदा से लेकर 8 अप्रैल श्री हनुमान जयंती तक विश्व हिदू परिषद संपूर्ण हिदू समाज की सहभागिता के साथ भव्य रथ यात्राओं के द्वारा प्रखंड स्तर तक के भव्य कार्यक्रमों के साथ लाखों गांव-गांव तक राम उत्सव अत्यंत अनुशासन पूर्वक तथा हर्षोल्लास से मनाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस