फरीदाबाद, जागरण संवाददाता। Faridabad Murder: फरीदाबाद में सेक्टर-7ए में शुक्रवार रात दंपती (रेडियोलॉजिस्ट प्रवीन मेहंदीरत्ता, उनकी पत्नी भारती) व उनके बेटी-दामाद (प्रियंका, सौरभ कटारिया) की चाकू से गला रेतकर हत्या करने के मामले में पुलिस ने हत्यारोपित की पहचान का दावा किया है। एसीपी क्राइम अनिल कुमार के मुताबिक, उनके पास पर्याप्त तथ्य हैं कि दंपती के बेटे दर्पण के जिम ट्रेनर दोस्त मुकेश ने हत्याकांड को अंजाम दिया। 30 वर्षीय मुकेश डबुआ कॉलोनी के पास न्यू राजीव कॉलोनी में परिवार संग रहता है। सेक्टर-7ए में दंपती के घर के पास जिम में वह सात साल से ट्रेनर था। यहीं उसकी दर्पण से दोस्ती हुई। पुलिस के मुताबिक मुकेश का दंपती के घर आना-जाना भी था।

क्राइम ब्रांच की टीमों ने सीसीटीवी फुटेज, तकनीकी जांच के बाद रात में ही चार संदिग्ध चिह्नित किए थे। मुकेश भी उनमें से एक था। पुलिस ने रात में सभी संदिग्धों को फोन कर सुबह पूछताछ के लिए पहुंचने का निर्देश दिया था। सुबह मुकेश को छोड़कर बाकी तीन लोग पहुंच गए। सुबह पुलिस मुकेश के घर तक पहुंच पाती, इससे पहले ही उसका भाई लाला कन्फेशन नोट लेकर डबुआ थाने पहुंच गया। लाला ने पुलिस को बताया कि मुकेश यह नोट छोड़कर घर से गया है। नोट में चारों हत्या करने की बात कबूल की है, साथ ही लिखा है कि वह आत्महत्या कर सकता है। पुलिस की टीमें उसकी तलाश में जुट गईं। पुलिस ने उसके घर के बाहर से स्कूटी, उसका जिम बैग, स्कूटी की चाबी बरामद की है। सभी पर खून के निशान हैं। उसके परिवार वालों से भी पूछताछ की जा रही है। पुलिस का कहना है कि हत्या का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है। आरोपित के गिरफ्तार होने पर ही सारी बातें साफ होंगी।

हत्या की वजह पर पुलिस की माथापच्ची

पुलिस मुकेश की गिरफ्तारी की कोशिश के साथ हत्या की वजह पर भी माथापच्ची कर रही है। घर में लूट या चोरी का प्रयास करने के भी सबूत नहीं मिले हैं, कोई रंजिश भी सामने नहीं आई है। मुकेश का दर्पण का दोस्त होना भी पुलिस के लिए उलझन की वजह है। दोनों की फोन पर बातचीत होने की जानकारी भी पुलिस को मिली है।

सेक्टर-8 के श्मशान घाट में हुआ अंतिम संस्कार

चारों शवों का अंतिम संस्कार बाइपास रोड सेक्टर-8 के श्मशान घाट में हुआ। मेहंदीरत्ता दंपती को उनके बेटे दर्पण ने तो वहीं उनकी बेटी-दामाद को परिजनों ने मुखाग्नि दी।

मां और भाई थाने लेकर पहुंचे कन्फेशन नोट

कमलेश ने बताया कि सुबह करीब 5 बजे मुकेश उठकर कहीं जाने लगा, मां द्रौपदी ने पूछा तो उसने कहा कि वह दोस्तों के साथ हरिद्वार जा रहा है। सुबह करीब 6 बजे कमेलश सफाई कर रही थी तो फ्रिज के कवर के नीचे एक कागज मिला। यह कागज उसने पति लाला को दिखाया। लाल कागज पर लिखे शब्द पढ़कर दंग रह गया, दरअसल यह मुकेश का कन्फेशन नोट था, जिसमें उसने सेक्टर-7ए में चारों हत्या करने की बात लिखी थी। वह तुरंत मां द्रौपदी को साथ लेकर डबुआ थाने पहुंचा और पुलिस को यह नोट पकड़ा दिया। इसके बाद पुलिस सक्रिय हुई।

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप