Move to Jagran APP

क्लीनिक चलाने वाले से क्राइम ब्रांच का अधिकारी बनकर 2.23 करोड़ रुपये की ठगी, मनी लॉन्ड्रिंग में फंसाने की दी धमकी

फरीदाबाद शहर के सेक्टर-29 अरूप कुमार नाम के व्यक्ति के साथ ठगों ने ठगी की वारदात का अंजाम दिया। अरूप यहां पर एक क्लीनिक चलाते हैं। क्लीनिक संचालक से क्राइम ब्रांच का अधिकारी बनकर 2.23 करोड़ रुपये की ठगी की। ठगने के लिए बदमाशों ने मनी लॉन्ड्रिंग में फंसाने की बात कही थी। ठगों ने पीड़ित के पास सुप्रीम कोर्ट का गिरफ्तारी वारंट भी बनाकर भेजा।

By Monu Kumar Jha Edited By: Monu Kumar Jha Thu, 11 Jul 2024 10:11 AM (IST)
क्लीनिक चलाने वाले से क्राइम ब्रांच का अधिकारी बनकर 2.23 करोड़ रुपये की ठगी, मनी लॉन्ड्रिंग में फंसाने की दी धमकी
Faridabad News: क्राइम ब्रांच का अधिकारी बन ठगों ने की ठगी। प्रतीकात्मक फोटो

दीपक पांडे, फरीदाबाद। क्राइम ब्रांच मुंबई का अधिकारी बनकर एक निजी क्लीनिक संचालक को मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में फंसने का डर दिखाकर 2.23 करोड़ रुपये ठग लिए। सेंट्रल थाना साइबर पुलिस ने मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है।

सेक्टर-29 में रहने वाले पीड़ित अरूप कुमार ने पुलिस में शिकायत देते हुए कहा कि वह अपने घर के पास ही क्लीनिक चलाते हैं। उनके पास कुछ समय पहले वाट्सऐप नंबर से कॉल आया। कॉल करने वाले ने अपने आपको मुंबई क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताया।

ठगों ने मनी लॉन्ड्रिंग का नाम लेकर अरुप को डराया

ठग ने कहा कि उनके खाते में मनी लॉन्ड्रिंग का पैसा आया है। इसलिए उनको अरूप के सभी खातों की जांच करनी होगी। मनी लॉन्ड्रिंग का नाम सुनकर आरूप डर गए। ठग ने उनको सभी खाते उपलब्ध कराने को कहा। ताकि वह जांच कर सके।

अरूप ने अपने दो खातों की जानकारी ठग को दे दी। दो दिन बाद फिर से ठग का फोन आया। उसने कहा कि उनके दोनों खाते में मनी लॉन्ड्रिंग का पैसा आया है। अब उनको लंबा जेल में जाना पड़ेगा। वरना सुप्रीम कोर्ट से 50 लाख रुपये की जमानत लेनी पड़ेगी।

अगर मामले को यही रफा दफा करना चाहते हो तो उनके खाते में एक करोड़ 30 लाख रुपये ट्रांसफर कर दो। इसके बाद अरुप ने डर की वजह से ठग के खाते में एक करोड़ 30 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिए, लेकिन ठग इतनी रकम लेने के बाद भी नहीं माने। उन्होंने दोबारा अरुप को फोन किया और कहा कि केस बहुत बड़ा है।

अरुप ने डर के कारण दोबारा डलवाये पैसे 

इसको निपटाने के लिए और पैसे लगेंगे। उन्होंने खाते में 23 लाख रुपये और डालने के लिए कहे। अरुप ने डर की वजह से वह पैसे भी डलवा दिए। वहीं ठग ने अरुप के वाट्सऐप पर सुप्रीम कोर्ट का गिरफ्तारी वारंट भी बनाकर भेजा। जिससे पीड़ित अधिक घबरा गया। अरुप के अनुसार ठग ने उनसे धोखे से 2 करोड़ 23 लाख रुपये ठग लिए।

यह भी पढ़ें: पांच राज्यों में 250 करोड़ की धोखाधड़ी करने वाला महाठग गिरफ्तार, पुलिस को चकमा देने में था माहिर