फरीदाबाद [सुशील भाटिया]। DCP Vikram Kapoor committed suicide: फरीदाबाद में कार्यरत पुलिस उपायुक्त विक्रम कपूर ने बुधवार सुबह सेक्टर 30 स्थित पुलिस लाइन स्थित आवास पर सर्विस रिवॉल्वर से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। विक्रम कपूर मूल रूप से अंबाला के रहने वाले थे और हरियाणा पुलिस में सहायक उप निरीक्षक के रूप में भर्ती हुए थे। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि थाना भूपानी एसएचओ अब्दुल शहीद और एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ शिकायत मिली है। आरोप है कि दोनों डीसीपी विक्रम कपूर को ब्लैकमेल कर रहे थे।

पदोन्नति की बदौलत विक्रम कपूर आइपीएस बने और पिछले करीब 2 साल से फरीदाबाद में नियुक्त थे। बुधवार सुबह करीब 5:45 बजे अपने घर के ड्राइंग रूम में सोफे पर बैठे थे और सर्विस रिवॉल्वर मुंह में डालकर ट्रिगर दबा दिया। उस समय उनकी पत्नी बाथरूम में थी।

आवाज सुनकर बाहर आई और पति विक्रम कपूर को खून से लथपथ हालत में पाया। इसके बाद उन्होंने बेटे अर्जुन को जगाया। बाद में पुलिस को सूचित किया गया। विक्रम कपूर की सेवानिवृत्ति को अभी 1 साल बाकी था। मौके पर पहुंची फॉरेंसिक टीम जांच में जुट गई है। अभी आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है। मौके पर जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी भी पहुंचे हैं।

बता दें कि पिछले साल रक्षाबंधन के मौके पर फरीदाबाद में ब्रह्मकुमारी बहन ने पुलिस उपायुक्त विक्रम कपूर को राखी भेंट की थी और अब रक्षाबंधन से ठीक एक दिन पहले ही विक्रम कपूर ने आत्महत्या कर ली है।

सेक्टर 31 पुलिस लाइंस में जिस कमरे में डीसीपी विक्रम कपूर ने आत्महत्या की उस कमरे की तलाशी ली जा रही है। पुलिस ने कपूर द्वारा आत्महत्या में प्रयुक्त सर्विस रिवॉल्वर एवं घटनास्थल पर मौजूद अन्य सामान को जांच के लिए ले कब्‍जे में ले लिया है।

DCP विक्रम कपूर की आत्महत्या केस में आया नया मोड़, मिले कई अहम सबूत 

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Prateek Kumar