जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : जिले में पिछले कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। इसे लेकर प्रदेश सरकार काफी चितित हैं और कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए मास्क को सबसे अधिक आवश्यक मान रही है, लेकिन जिलेवासी मास्क को लेकर बिल्कुल भी गंभीर नहीं नहीं है। लोग सार्वजनिक स्थानों पर जाने से पूर्व मास्क को लगाने से परहेज कर रहे हैं और यदि किसी के चेहरे पर मास्क है, तो वह नाक से नीचे दिखाई देता है।

वैसे अभी गनीमत यह है कि जिले में अभी तक कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन का एक भी नया मामला नहीं आया है और जिलेवासियों को संक्रमण से सुरक्षित रखने के मास्क लगाने के लिए जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा अपील की जा रही है, लेकिन अपील का असर नहीं हो रहा है। नागरिक अस्पताल कोरोना के लिहाज से बेहद संवेदनशील है, क्योंकि यहां पर सबसे अधिक संख्या में लोग सैंपलिग के आते हैं और इनमें से कुछ की रिपोर्ट संक्रमित भी आती हैं। ऐसे में लोगों की मास्क के प्रति उदासीनता चिता का सबब बन सकती है। ऐसी ही कुछ स्थिति एनआइटी एक एवं पांच नंबर के मार्केट में भी दिखी। यहां पर दुकानदार, ग्राहक, रेहड़ी पटरी वालों में से बहुत कम संख्या में लोग मास्क लगाए नहीं दिखाई दिए।

-------------

एक नया मामला

जिला स्वास्थ्य विभाग ने शनिवार को कोरोना के एक नए माले की पुष्टि की है। वहीं चार संक्रमित स्वस्थ हुए हैं। सक्रिय संक्रमितों की संख्या 28 हो गई है। इन सभी को होम आइसोलशन में रखा गया है। 2815 सैंपल लिए गए। इनमें से 2644 सैंपल की रिपोर्ट आना बाकी है।

-----

यदि जिलेवासी कोरोना नियमों का पालन नहीं करेंगे, तो एक बार फिर से बड़ी समस्या का सामना करना पड़ सकता है। स्वास्थ्य विभाग जिन स्थानों पर टीकाकरण शिविर आयोजित कर रहा है, वहां लोगों से सार्वजनिक स्थान पर मास्क लगाने की अपील करता है। ताकि संक्रमण को बढ़ने से रोका जा सकें।

- डा. विनय गुप्ता, मुख्य चिकित्सा अधिकारी।

Edited By: Jagran