जागरण संवाददाता, फरीदाबाद: यमुना नदी किनारे बसे हुए चांदपुर, फज्जुपुर, अरूआ व साहुपुरा सहित अन्य गांव के लोगों को अगले सप्ताह की शुरुआत में बड़ी राहत मिल जाएगी। इन गांवों तक सिटी बसों का संचालन शुरू होने वाला है। अब सोमवार या फिर मंगलवार से बस संचालन शुरू होने की तैयारी की जा रही है। इसके बाद ग्रामीणों की आटो पर निर्भरता खत्म हो जाएगी। सुरक्षित और सुगम सफर शुरू हो जाएगा। अभी कौराली तक सिटी बसें चल रही हैं। आगे करीब चार किलोमीटर रूट पर पेड़ों की टहनियां आने की वजह से बस संचालन शुरू नहीं हो सका था।

छात्रों को आती है समस्या: अरूआ गांव निवासी विजयपाल भारद्वाज ने बताया कि यमुना नदी तक बसे हुए गांव की शहर से बेहतर कनेक्टिविटी के नाम पर केवल कुछ आटो चल रहे हैं। ये आटो भी सवारी के इंतजार में एक-एक घंटे तक खड़े रहते हैं। जब तक पूरा आटो भर नहीं जाता, तब तक लोग इंतजार करते रहते हैं। इस दौरान सबसे अधिक परेशानी छात्रों को आती है। इन गांव से हजारों बच्चे रोजाना पढ़ाई, कोर्स करने या नौकरी की तैयारी करने के लिए तिगांव, बल्लभगढ़ या फरीदाबाद शहर तक आते हैं। जब सिटी बसों का संचालन कौराली तक ही हुआ तो इस बारे में केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर व परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा से आग्रह किया गया। उन्होंने सिटी बसें अरूआ तक चलाने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। अब बसें चलने से ग्रामीणों को बड़ी राहत मिलेगी। विक्रम सिंह अरूआ और भूरा चेयरमैन ने बताया कि पेड़ों की टहनियों की छंटाई का काम पूरा हो गया है। अब कोई बाधा नहीं है। अरूआ गांव तक सिटी बस संचालन की अनुमति मिल चुकी है। अब कोई बाधा नहीं है। सोमवार या मंगलवार से बसों का संचालन शुरू कर दिया जाएगा। यदि नया गांव या मोठूका से भी सवारी मिलेंगी तो बसें वहां तक चला दी जाएंगी।

- पवन भारद्वाज, प्रबंधक, सिटी बस

Edited By: Jagran