जागरण संवाददाता, फरीदाबाद: बिल्डरों के खिलाफ शिकायतों के निवारण के लिए गठित निवेशक शिकायत निवारण कमेटी की बैठक बृहस्पतिवार को जिला उपायुक्त डा. अमित अग्रवाल की अध्यक्षता में हुई। बैठक में निवेशकों ने बीपीटीपी के खिलाफ 13 शिकायतें तथा कुछ अन्य मामले रखे। बैठक में कई मामलों का समाधान किया गया।

ग्रेटर फरीदाबाद में विकसित हो रही ग्रुप हाउ¨सग सोसायटी में कई बिल्डर निवेशकों से विकास शुल्क, रखरखाव शुल्क सहित कई अन्य तरह से परेशान करते रहते हैं। निवेशक इस संबंध में लगातार जिला प्रशासन और प्रदेश सरकार से शिकायतें कर रहे थे, जिस पर जिला उपायुक्त की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया। कमेटी की बृहस्पतिवार को आयोजित पहली बैठक में अकेले बीपीटीपी के खिलाफ 13 शिकायतें रखी गई। इसमें पजेशन समय पर न देने, निर्माण सामग्री महंगी होने के कारण फ्लैट के दाम बढ़ाने, फ्लैट का क्षेत्रफल, रखरखाव शुल्क अधिक वसूलने सहित कई अन्य मामले कमेटी के समक्ष रखे गए। निर्माण सामग्री महंगी होने के कारण फ्लैट के दाम बढ़ाने के मामले में प्रशासन ने उन्हें स्पष्ट कहा कि यदि बिल्डर निवेशकों को समय पर पोजेशन देता तो यह नौबत ही नहीं आती। पजेशन देने में देरी उन्होंने की है, ऐसे में निर्माण सामग्री महंगी होने का दंड निवेशक क्यों भुगतें। कमेटी में अधिकांश मामलों का निपटारा किया गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021