संवाद सहयोगी, तोशाम: गांव खानक में युवाओं ने विभिन्न समस्याओं को लेकर एसडीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। खानक के ग्रामीण व युवाओं ने बताया कि प्रदेश को सबसे ज्यादा राजस्व देने वाला गांव खानक है और गांव के युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है। एचएसआइआइडीसी तथा खानक में खनन करने वाली कंपनी के कर्मचारी मिलकर राजस्व का घोटाला कर रहे हैं जिन पर कार्रवाई करने की मांग की है। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री से मांग कि की गांव के युवाओं को रोजगार दिया जाए, गांव खानक पूरी तरह से खनन क्षेत्र पर ही आधारित है और सबसे ज्यादा खनन का दुष्प्रभाव भी गांव के निवासियों पर पड़ता है। खनन क्षेत्र में एचएसआइआइडीसी तथा खनन करने वाली धनसर कंपनी के कर्मचारी मिलकर राजस्व को नुकसान पहुंचा रहे हैं। 17 अक्टूबर को छह-सात गाड़ियों में बोली लगाई गई पिट की बजाए दूसरी पिट का पत्थर भरे हुए पकड़ा है और ऐसा खेल खेलकर खनन करने वाली कम्पनी के कर्मचारी सरकार को राजस्व का चुना लगा रहें है। युवाओं ने आरोप लगाया कि यह कार्य लंबे समय से चल रहा है और इसकी जांच करने की मांग की। गांव में खनन के दौरान ध्वनि प्रदूषण, वायु प्रदूषण बहुत ज्यादा होता है और जिसके कारण अनेक गंभीर बीमारियों से गांव वालों को जूझना पड़ता पड़ता है। युवाओं ने मुख्यमंत्री से मांग की कि गांव के युवाओं को रोजगार दिया जाए और गांव की अन्य समस्याओं की तरफ भी ध्यान दिया जाए। उन्होंने कहा कि गांव में रोजगार होते हुए भी युवा दर-दर की ठोकरें खाने पर मजबूर हो रहे हैं। इस अवसर पर निवर्तमान सरपंच रमेश कुमार, भीष्म, वेदप्रकाश, सूबेसिंह, राधेश्याम, रणबीर, रामफल, राजकुमार, दीपक, धर्मेंद्र, सोनू, सुरेंद्र, पंकज, संदीप सहित अनेक ग्रामीण व युवा मौजूद थे।

Edited By: Jagran