जागरण संवाददाता, भिवानी : उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने कहा है कि कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर से बचाव के लिए समुचित स्वास्थ्य संसाधनों का होना जरूरी है। सरकार के अलावा साधन-संपन्न लोगों, उद्योगपतियों, गेल व पावर ग्रिड के सहयोग से भी स्वास्थ्य संसाधन जुटाए जाएंगे। किसी भी आपदा से निपटने के लिए सामाजिक संस्थाओं का सहयोग भी जरूरी होता है। आर्य बुधवार को लघु सचिवालय स्थित डीआरडीए सभागार में कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर से बचाव को लेकर स्वास्थ्य संसाधनों व स्वास्थ्य विभाग की तैयारी की समीक्षा कर रहे थे।

उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को जिला मुख्यालय पर सामान्य अस्पताल में आक्सीजन प्लांट की स्थापना करने के कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि किसी भी आपदा से निपटने के लिए हमारे पास पर्याप्त संसाधनों का होना जरूरी है। इसके लिए जरूरी है कि सभी सामान्य अस्पताल व सीएचसी व पीएचसी में जरूरी संसाधन हों ताकि वहां पर लोगों का उपचार किया जा सके। उन्होंने कहा कि चिकित्सा संस्थानों में पर्याप्त संख्या में चिकित्सा बेड का होना जरूरी है। इसके अलावा सामान्य अस्पताल में पर्याप्त आइसीयू बेड होने चाहिए। उन्होंने कहा कि विभाग के पास कम से कम 50 आइसीयू बेड होने चाहिए।

उपायुक्त ने बैठक में मौजूद गैस अथोरिटी आफ इंडिया तथा पावर ग्रिड कारपोरेशन के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सीएसआर के तहत भिवानी रेडक्रास सोसायटी को 50-50 आक्सीजन कन्संट्रेटर, पांच-पांच वेंटिलेटर, 20-20 आइसीयू बेड और 100-100 आक्सीजन सिलेंडर दिलवाएं ताकि कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर का सामना किया जा सके। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के निर्देश दिए कि अन्य संसाधनों के लिए सरकार के पास भी पत्र डिमांड भेजी जाए ताकि समय रहते उनको पूरा किया जा सके। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्धारित किए गए स्थानों पर नियमित रूप से वैक्सीनेशन कैंप लगाएं। उपायुक्त ने निर्देश दिए कि सभी एसडीएम, सैंपलिग के नोडल अधिकारी, तहसीलदार, बीडीपीओ वैक्सीनेशन कैंप का निरीक्षण करेंगे।

उपायुक्त ने सभी ग्राम सचिव, पटवारी, आशा वर्कर, आंगनबाड़ी वर्कर और पूर्व पंचायत प्रतिनिधियों को निर्देश दिए हैं कि वे अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीनेशन कैंप में लेकर जाएं। बैठक में एसडीएम संदीप अ‌र्ग्रवाल, नगराधीश हरबीर सिंह, सिविल सर्जन डा. सपना गहलावत, पीएमओ डा. मंजू, उप सिविल सर्जन डा. कृष्ण कुमार, डा. जितेंद्र कुमार व डा. आशीष कुमार, बिजली निगम अधीक्षक अभियंता रणबीर सिंह, जिला रेडक्रास सचिव प्रदीप हुड्डा के अलावा संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

Edited By: Jagran