संवाद सहयोगी, तोशाम: अखिल भारतीय किसान सभा ने किसान, मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ तोशाम तहसील के सामने धरना दिया। धरने पर सीआइटीयू व अखिल भारतीय खेत मजदूर यूनियन ने भी धरना दिया जिसकी अध्यक्षता ब्लाक प्रधान कर्ण सिंह जैनावास व मंच संचालन मा. रूघबीर सिंह भेरा ने किया। बाद ने प्रधानमंत्री के नाम एक ज्ञापन एसडीएम संदीप कुमार को सौंपा।

राज्य उपप्रधान मास्टर शेर सिंह ने किसान व मजदूरों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र सरकार द्वारा खेती में किसानी के बारे में लगाए गए तीन अध्यादेश निरस्त हो। किसानों की फसल का लाभकारी मूल्य पर खरीद की गारंटी हो। उन्होंने सरकार द्वारा जारी किए गए किसान विरोधी अध्यादेश वापस लिए जाएं,पेट्रोल डीजल वृद्धि पर रोक लगाई जाए, स्वामीनाथन आयोग रिपोर्ट लागू की जाए, मनरेगा को कृषि कार्यों से जोड़ा जाए, प्रत्येक व्यक्ति को 200 दिन का काम व 600 रुपये दिहाड़ी दी जाए, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत कपास को वार्षिक वाणिज्य फसल वर्ग से हटाए तथा किसान के फसल बीमा को 2 प्रतिशत से बढ़ाकर 5 प्रतिशत किया गया उसको रद किया जाए, रबी फसल 2019-20 में ओलावृष्टि व बेमौसम बरसात से बर्बाद फसलों का बीमा क्लेम व मुआवजा शीघ्र दिया जाए। इस अवसर पर छोटूराम पुनिया, सुदेश रिवासा, रणबीर सिढ़ाण, सदीक डाडम, कृष्ण दरियापुर, वजीर नयागांव, क्रांति गारनपुरा, प्रवीण, रामचंद्र बिड़ौला, रमेश, जिले सिंह, राजबीर, जिलेसिंह जैनावास, मा सावंत थिलोड, तेज प्रकाश, चंद झुल्ली, राजवीर कैरू, ईश्वर फौजी, मंतूराम, भूपसिंह सहित अनेक किसान व मजदूर मौजूद थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस