जागरण संवाददाता, भिवानी:

पंजाब एंव हरियाणा बार काउंसिल के आह्वान पर एक अक्टूबर को होने वाले बार चुनाव के लिए भिवानी बार के चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया दिनभर चली। प्रधान और दूसरे पदों के लिए 12 लोगों ने नामांकन किया। शाम को हाई कोर्ट के आए निर्णय के अनुसार ऑनलाइन चुनाव पर रोक लगा दी गई। इसके लिए चंडीगढ़ के अधिवक्ता प्रशांत सेठी ने हाई कोर्ट में याचिका डाली थी। अब बार काउंसिल को चुनाव के लिए अगला निर्णय लेना है। अगले चुनाव कोविड-19 के लिए जारी एडवाइजरी का पूरी तरह से पालन करते हुए कराए जाएंगे। इसकी अगली तारीख बाद में बार काउंसिल तय करेगी। इन पदों के लिए ये हुए आवेदन

पद आवेदनों की संख्या

प्रधान 6

सचिव 3

उप प्रधान 1

संयुक्त सचिव 1

खजांची 1 इन उम्मीदवारों ने किया था नामांकन

प्रधान पद के लिए सत्यजीत पिलानिया, युधिष्ठर वत्स, रविद्र शर्मा, मुकेश चौहान, मेहरचंद सांगवान, ब्रह्मानंद, सचिव के लिए विजय दहिया, संजय तंवर, राजेश यादव, उपप्रधान सोमबीर भाटिया, संयुक्त सचिव विनय तंवर खजांची मंगेज तंवर ने नामांकन किया। नामांकन कमेटी में ये रहे शामिल

भिवानी बार चुनाव कमेटी में अधिवक्ता संजीव तंवर, मनोज तंवर, मुकेश गुलिया, पवन गौत्तम, अनिल साहु, कृष्णा चौहान, नरेंद्र कांटीवाल और आनंद श्योराण शामिल रहे। कमेटी सदस्यों ने नियमानुसार उम्मीदवारों के नामांकन करवाए। आज होनी थी नामांकनों की जांच

17 सितंबर को भिवानी बार चुनाव में नामांकनों की जांच होनी थी। इसी दिन नाम वापस लेने का दिन भी निर्धारित किया गया था, लेकिन आनलाइन चुनाव रद्द होने के बाद अब इस प्रक्रिया पर ब्रेक लग गया। हमने निर्धारित नियमों के अनुसार बुधवार को भिवानी बार चुनाव के लिए नामांकन कराए। शाम को चंडीगढ़ के अधिवक्ता प्रशांत सेठी ने उनको दूरभाष पर बताया कि आनलाइन चुनाव अब नहीं होंगे। हाई कोर्ट ने फैसला सुना दिया है। प्रशांत सेठी ने आनलाइन चुनाव नहीं कराने के लिए याचिका लगाई थी। इसलिए अब बार चुनाव की अगली प्रक्रिया रोक दी गई है। नई तारीख आने के बाद चुनाव होंगे।

मुकेश गुलिया, अधिवक्ता, सदस्य, चुनाव कमेटी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस