संवाद सहयोगी, बाढड़ा: कस्बे के जुई रोड पर रविवार को राष्ट्रीय कुम्हार महासभा की बैठक का आयोजन महासभा के प्रदेश कोषाध्यक्ष डा. मनोज कुमार की अध्यक्षता में किया गया। बैठक का सफल संचालक जिलाध्यक्ष रत्न सिंह लाड व भूप सिंह ने किया। बैठक में सरकार द्वारा जातिगत जनगणना न करने व पिछड़ा वर्ग की प्रतिभाओं को उनके वाजिब अधिकारों से वंचित रखने पर रोष जताया गया। महासभा के प्रदेश कोषाध्यक्ष डा. मनोज कुमार सिगाठिया, पिछड़ा वर्ग कल्याण महासभा के संरक्षक शांता कुमार आर्य ने बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा क्रीमीलेयर के संबंध में 17 नवंबर को जो नई अधिसूचना जारी कि गई है, वह पूर्णतया गैर कानूनी व असंवैधानिक है तथा माननीय सर्वोच्च न्यायालय के 24 अगस्त 2021 के फैसले का उल्लंघन है। हरियाणा सरकार ने उपरोक्त नई अधिसूचना को जानबूझकर अपनी मर्जी से पक्षपात के साथ आर्थिक आधार बना दिया है जो कि संविधान के विरुद्ध है। क्योंकि संविधान में सामाजिक व शैक्षणिक आधार है न की आर्थिक आधार। शांता कुमार आर्य ने बताया कि समस्त पिछड़ा वर्ग में नई अधिसूचना को लेकर आक्रोश है। इसे लेकर संरक्षक शांता कुमार आर्य, प्रधान प्रो. आरसी, राष्ट्रीय कुमार महासभा हरियाणा प्रदेशाध्यक्ष रामकुमार सुधिवास, राष्ट्रीय प्रवक्ता गणेशी लाल वर्मा ने आज उपमंडल के ग्रामीण क्षेत्र में जनजागरण अभियान भी चलाया हुआ है। बैठक में हलकाध्यक्ष विनोद जेवली, विभव सिगाठिया, प्रो. राजकुमार जांगड़ा, प्रो. खजान सिंह, मा. नरेश कुमार, मा. सोमवीर, मा. रामपाल, जगदीश प्रसाद हंसावास, धर्मेंद्र खजांची, ओम प्रकाश बाबू, रणवीर सरपंच, रामोतार खोरड़ा, सतपाल प्रधान, सुनील लाड, राजवीर सिंह, सतवीर लाड, सत्यनारायण चकरिया, मिटू हंसावास इत्यादि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran