जागरण संवाददाता, भिवानी :

भवन निर्माण कामगार यूनियन भिवानी ब्लाक के आठवें सम्मेलन में श्रमिक अपने अधिकारों के लिए जमकर गरजे और 28-29 जनवरी को श्रम मंत्री के आवास पर पड़ाव में बढ़ चढ़ कर भाग लेने का आह्वान किया। इसके अलावा 23-24 फरवरी को होने वाली राष्टव्यापी हड़ताल को भी कामयाब बनाने का संकल्प लिया। रविवार को यह सम्मेलन गांव चांग के संत शिरोमणि रविदास मंदिर में आयोजित किया गया। सम्मेलन की अध्यक्षता नफे सिंह, महाबीर सिंह, सूरजमल, राजकुमार ने की। संचालन ब्लाक सचिव धर्मबीर बामला ने किया।

ब्लाक प्रधान नफे सिंह ने झंडा रोहण किया और कैशियर राजकुमार ने शोक प्रस्ताव रखते हुए कहा कि कोरोना महामारी में हमारे बीच से साथी चले गए, किसान आंदोलन में 750 किसान शहीद हुए, डाडम में अवैध खनन के चलते मारे गए मजदूरों, रेल हादसे ओर बाढ़ व प्राकतिक आपदाओं सड़क दुर्घटनाओं में आतंकी घटनाओं में मारे गए शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं। दो मिनट का मौन धारण किया गया।

राज्य महासचिव सुखबीर सिंह, माकपा जिला सचिव कामरेड ओमप्रकाश ने कहा की केंद्र व हरियाणा सरकार की मजदूर विरोधी नीतिओं के चलते आज भूखे मरने पर मजबूर हैं। एनसीआर में प्रदेश में निर्माण का कार्य बंद पड़ा हुआ, खनन कार्य बंद, भट्ठे बन्द हैं। निर्माण मजदूर भूखे मरने पर मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि 23 -24 फरवरी को देशव्यापी हड़ताल ऐतिहासिक होगी। यूनियन के राज्य कैशियर राममेहर सिंह, जिला प्रधान अनिल कुमार ने कहा कि देश और प्रदेश में सरकार जनता की नीतियों को लागू ना करके जनता विरोधी नीतियों को लागू किया जा रहा है। जिसके चलते मजदूरों में भारी रोष व्याप्त है। 90 दिन की वेरिफिकेशन के सवाल पर भी अड़ंगे डाले जा रहे हैं।

ब्लाक सचिव धर्मबीर सिंह ने सगठन की सांगठनिक रिपोर्ट पेश की। कैशियर राजकुमार ने तीन साल का हिसाब किताब सम्मेलन रखा। ब्लाक सम्मेलन में 19 सदस्यीय ब्लाक कमेटी के साथ नो सदस्यीय सचिव मंडल, जिसमें ब्लाक प्रधान महाबीर सिंह उपप्रधान राजकुमार,सूरजमल, ब्लाक सचिव धर्मबीर बामला ब्लाक सह सचिव विजय मित्ताथल, मंगतूराम, ब्लाक कैशियर राजकुमार, ब्लाक कमेटी सदस्य बलजीत गुजरानी, दयाकिशन, नरेश, रत्नपाल, समुंदर बंटी, रोशनी शामिल रहे। चार फरवरी होने वाले जिला सम्मेलन के 40 डेलिगेट भी सम्मेलन में सर्व सहमति से चुने गए।

Edited By: Jagran