जागरण संवाददाता, चरखी दादरी : देश के किसान, मजदूर जहां सरकार की प्रताड़ना झेल रहे हैं वहीं भगवान राम को भी सत्ता के दलालों ने नहीं बख्शा। यह बात जनवादी महिला समिति की पदाधिकारी उपासना ने बुधवार को कितलाना टोल पर चले रहे किसानों के अनिश्चितकालीन धरने को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि देश के लोग जानना चाहते हैं कि चंद घंटे में राम जन्मभूमि के नाम पर करोड़ों के वारे न्यारे करने वाले कौन हैं। उन्होंने कहा कि तीन कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के आंदोलन में महिलाएं बराबर की सहयोगी हैं। भीमराव आंबेडकर व चौधरी छोटूराम विचार मंच के संयोजक गंगाराम श्योराण ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 26 जून को किसान आंदोलन के सात महीने पूरे होने पर चंडीगढ़ में राज्यपाल भवन का घेराव कर ज्ञापन दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम में भिवानी और दादरी जिले की तमाम खाप, किसान, मजदूर, सामाजिक, व्यापारी और कर्मचारी संगठन भाग लेंगे। 181वें दिन भी धरना रहा जारी

कितलाना टोल पर धरने के 181वें दिन खाप सांगवान के कन्नी प्रधान सूरजभान सांगवान, श्योराण खाप के प्रधान बिजेंद्र बेरला, चौगामा खाप के मीर सिंह नीमड़ीवाली, किसान सभा के रणधीर कुंगड़, प्रोफेसर जगमिद्र सांगवान, शीला बलियाली, सुकन्या ने संयुक्त रूप से अध्यक्षता की। ये रहे मौजूद

इस अवसर पर सुरेंद्र कुब्जानगर, कामरेड ओमप्रकाश, राजू मान, राजकुमार हड़ौदी, राज सिंह बिरही, मा. कर्ण सिंह, कप्तान रामफल, जगदीश हुई, आचार्य देवी सिंह, प्रीतम चैयरमैन, अनुराधा, संतोष देशवाल, सुशीला घणघस, बिमला, मौजीराम, परमजीत फतेहगढ़, लवली सरपंच, शमशेर सांगवान, सुभाष यादव, पोपी, सत्यवान कालुवाला, सबीर हुसैन, सूबेदार सतबीर सिंह, पूर्व सरपंच समुंद्र सिंह भी मौजूद रहे।

Edited By: Jagran