जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़ :

कोरोना के मामले निरंतर बढ़ते जा रहे हैं। मगर गंभीर केस कम होने से लोग भी बेपरवाह हो रहे हैं। फिलहाल पुलिस-प्रशासन की ओर से मास्क पर जोर दिया गया है और न पहनने वालों के चालान भी कट रहे हैं। इसके बावजूद बाजार की भीड़ में काफी ऐसे चेहरे होते हैं, जिनके ऊपर मास्क नजर नहीं आता। जो लोग मास्क लगाकर निकलते हैं, उनमें भी काफी तो ऐसे हैं जो कोरोना से बचाव के नजरिये से कम और चालान के डर से ज्यादा मास्क पहनते हैं। प्रशासन की ओर से लाख अपील किए जाने के बावजूद पूरी तरह असर नहीं हो रहा है। वहीं एसडीएम भूपेंद्र सिंह का कहना है कि कोरोना से बचाव के लिए हर तरह की सावधानी जरूरी है। केवल कानूनी कार्रवाई के डर से लोग मास्क न पहनें, बल्कि इसको अपनी जिम्मेदारी समझें। 180 पाजिटिव में से 100 से ज्यादा बहादुरगढ़ से :

रविवार को जिले में कोरोना के 180 नए केस सामने आए। इनमें से 100 से अधिक तो बहादुरगढ़ से हैं। शहर के अलावा ग्रामीण इलाकों से भी कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। सिविल अस्पताल में आरटीपीसीआर के अलावा रैपिड टेस्ट भी बढ़ाए गए हैं। वैक्सीनेशन पर जोर :

स्वास्थ्य विभाग की ओर से वैक्सीनेशन पर जोर दिया जा रहा है। रोजाना दो हजार से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है। सिविल अस्पताल और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के अलावा कालोनियों में भी कैंप लगाए जा रहे हैं। इनके जरिये अधिक से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन किया जा रहा है। 15 से 17 साल के बच्चों को वैक्सीन लगवाने के लिए लोग भी खुद आगे आ रहे हैं। वैसे तो बिना बुकिग के भी कैंपों में किशोरों का वैक्सीनेशन हो रहा है, मगर फिर भी काफी परिवार किशोरों के वैक्सीनेशन के लिए एडवांस बुकिग कर रहे हैं।

Edited By: Jagran