जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़ : बिजली की लाइनों के आसपास मकानों के निर्माण को लेकर निगम द्वारा नोटिस दिए जाने के बाद लाइन पार क्षेत्र के लोग भड़क उठे हैं। सोमवार को लोगों ने बैठक कर रणनीति बनाई और निगम की इस कार्यवाही को पूर्णतया गलत ठहराया। मंगलवार को इस मामले में प्रशासन को ज्ञापन भी सौंपा जाएगा।

आंबेडकर भवन के पास यह बैठक हुई। इसमें तार हटाओ संघर्ष समिति के प्रधान वजीर सिंह राठी भी शामिल हुए। इस दौरान नोटिस को लेकर चर्चा की गई। लोगों ने बिजली निगम की इस कार्यवाही की निदा की और हाईटेंशन लाइनों को घरों के उपर से हटाने की मांग की। समिति प्रधान राठी ने बताया की बिजली निगम ने अनुमान पास करके नगर परिषद को 23 जून को पत्र लिखकर पैसा जमा कराने के लिए कहा था। अब नगर परिषद की जिम्मेदारी बनती है कि जल्द से जल्द यह पैसा निगम को अदा करे। ताकि घरों के ऊपर से बिजली निगम द्वारा इन तारों को हटाया जा सके। सभी की सहमति से यह फैसला लिया गया कि मंगलवार को इस बारे में एसडीएम को मुख्यमंत्री के नामित ज्ञापन सौंपा जाए। परंतु दुर्भाग्यवश लाइन पार के घरों के ऊपर ये लाइन यू ही मौत बनकर मंडरा रही है। वहीं भारतीय किसान यूनियन (अ) के जिलाध्यक्ष प्रवीन दलाल ने बताया कि बिजली निगम द्वारा लाइनपार एरिया में हाईटेंशन तारों के नीचे बने मकानों को अवैध बताकर तोड़ने का फरमान जारी किया है। इससे यहां के निवासियों में काफी रोष है। बैठक में सुरेश राठी, सतबीर, गुलाब, नंदकिशोर, ओमप्रकाश, रणबीर, बलवान, खेल सिंह, गोपीराम, सूबेदार दयानंद, करण सिंह, किशन सिंह व रामदुलारी मौजूद रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस