जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़ :

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए दिल्ली में लागू किए गए वीकेंड क‌र्फ्यू (शनिवार व रविवार) के दूसरे सप्ताह के शनिवार को भी वाहनों पर असर दिखा। इस दिन दिल्ली जाने वाले वाहन कम रहे। पिछले सप्ताह काफी वाहनों के चालान कटे। हालांकि दूसरे सप्ताह में दिल्ली की सीमाओं पर पहले सप्ताह जैसी चेकिग नहीं दिखी। टीकरी बार्डर पर तो वाहनों की आवाजाही निर्बाध जारी थी। कोरोना के साथ-साथ ठंड का असर भी रहा। दिल्ली से आने वाले वाहनों की चेकिग भी नहीं दिखी। पिछले सप्ताह तो यहां से आने वाले वाहनों के चालकों से पूछा जा रहा था कि क‌र्फ्यू में चलने की उनके पास इजाजत है या नहीं। जिनके पास अनुमति नहीं थी और जो बेवजह निकले हुए थे, उनके दो से पांच हजार रुपये तक के चालान भी काटे गए थे। इसकी वजह से भी लोग दूसरे सप्ताह में कम ही निकले। सड़क पर वाहन कम रहे :

आम तौर पर शनिवार और रविवार को दिल्ली जाने वाले वाहन कम होते हैं। अब चूंकि वीकेंड क‌र्फ्यू लागू है तो शनिवार को वाहनों की संख्या और भी कम थी। शनिवार व रविवार को काफी जगह वैसे ही अवकाश होता है। अब कोरोना चल रहा है। ऐसे में वाहन कम हो गए। दिल्ली की तरफ जाने वालों की घेवरा मोड़ तक चेकिग नजर नहीं आई। वहीं बहादुरगढ़ पुलिस ने भी रात को अपने एरिया में दिल्ली बार्डर के नजदीक बैरिकेड लगा रखे थे ओर गैर जरूरी वाहनों को दिल्ली जाने से रोका जा रहा था। वाहन चालकों को बताया गया कि दिल्ली में वीकेंड क‌र्फ्यू है। वहीं टीकरी बार्डर पर टोल टैक्स बैरियर पर तैनात कर्मियों ने बताया कि दिल्ली में व्यवसायिक वाहनों की संख्या पहले सप्ताह के वीकेंड क‌र्फ्यू के मुकाबले कुछ ज्यादा रही। ाहालांकि सप्ताह के बाकी दिनों जितने वाहन नहीं थे। टीकरी बार्डर पर स्थित पेट्रोल पंप के मैनेजर ने बताया कि उनके यहां पर दिल्ली से भी कई लोग सीएनजी भरवाने के लिए आए। उन्होंने बार्डर पर चेकिग से इंकार किया।

Edited By: Jagran