जागरण संवाददाता, अंबाला शहर

सोमवार को अंबाला शहर पुलिस लाइन में पुलिस शहीदी स्मृति दिवस का आयोजन किया गया। इस दौरान शहीद हुए पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजिल दी। इस दौरान एसपी अभिषेक जोरवाल, डीएसपी हेडक्वार्टर सुलतान सिंह आदि मौजूद रहे।

शहीद स्मृति दिवस परेड के बाद शस्त्र उल्टे कर दो मिनट का मौन रखा। बाद में हवाई फायर भी किए गए। एसपी ने कहा कि जिन पुलिस कर्मियों ने अपनी जान की परवाह न करके अपराधियों के साथ लोहा लेते हुए अपने प्राण न्योछावर कर दिए, उनको पुलिस विभाग कभी भूल नहीं पाएगा। पुलिस शहीदी स्मृति दिवस का इतिहास 21 अक्टूबर 1959 के उस घटना से जुड़ा हुआ है। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के सब इंस्पेक्टर कर्म सिंह की कमान में एक गश्ती दल के ऊपर लद्दाख में हॉट स्प्रिंग नामक जगह पर चीनी फौज ने छिपकर हमला किया। इसमें 10 पुलिस कर्मी शहीद हुए। 16 हजार फुट की ऊंचाई पर कड़ाके की सर्दी में इस साहसपूर्ण शहादत और विलक्षण बहादुरी की यह अपने आप में एक मिसाल है। 21 अक्टूबर के दिन हर वर्ष सारा देश पुलिस के शहीदों को भावपूर्ण श्रद्धांजलि भेंट करता है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप