जागरण संवाददाता, अंबाला : अंबाला कैंट में करीब सात बड़े प्रोजेक्टों पर काम चल रहा है। निर्माण कार्य अंतिम चरणों में है। हालांकि इन प्रोजेक्टों को काफी समय पहले पूरा कर लिया जाना था, लेकिन कोरोना काल के कारण इसमें विलंब हुआ। उम्मीद जताई जा रही है ये विकास कार्य वर्ष 2022 में पूरे हो जाएंगे। इन कार्यो के पूरा होने का जनता भी इंतजार कर रही है। अधिकारी भी इनकी मानीटरिग तेज कर चुके हैं, जबकि इसमें नोटिस देने की कार्रवाई के भी आदेश दिए गए हैं। अब साल 2022 में यह कब जनता को मिलते हैं, यह देखना है।

अंबाला कैंट के वार हीरोज मेमोरियल स्टेडियम अंतरराष्ट्रीय स्तर का पालीग्रास स्टेडियम करीब 117 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जा रहा है। यह प्रोजेक्ट लगभग 92 प्रतिशत पूरा हो चुका है, जबकि यहां पर अब सिथेटिक एथलेटिक ट्रैक का निर्माण शुरू किया गया है। हालांकि दिसंबर में इसे पूरा करने का दावा है, लेकिन स्थितियां बताती हैं यह साल 2022 में ही कंपलीट हो पाएगा। अप्रैल 2017 में शुरु हुआ था, जो 2019 में कंपलीट होना था।

------------

आल वेदर स्वीमिग पूल

वार हीरोज मेमोरियल स्टेडियम में ही अंतरराष्ट्रीय स्तर का आल वेदर स्वीमिग पूल बनाया जा रहा है। यह प्रोजेक्ट करीब 42 करोड़ रुपये का है, जो मार्च 2019 में शुरु होकर सितंबर 2020 में पूरा होना था। इसकी तिथि भी लगातार बढ़ती गई और अब यह दिसंबर 2021 में पूरा होने का दावा किया जा रहा है। अभी इस में सिविल वर्क अंतिम चरण में है, जबकि इलेक्ट्रिकल काम होना है। ऐसी स्थिति में माना जा रहा है कि यह प्रोजेक्ट भी साल 2022 में ही पूरा होगा।

-------------

स्पो‌र्ट्स होस्टल

वार हीरोज मेमोरियल स्टेडियम के सामने स्पो‌र्ट्स होस्टल करीब तेरह करोड़ की लागत से बनाया गया है। इस में अब लघ सचिवालय चलाया जा रहा है। इस में अब करीब 70 लाख रुपये की लागत से फर्नीचर लगाया जाना है, जबकि इस में इलेक्ट्रिकल वर्क भी होना है। लिफ्ट व अन्य काम किए जाने हैं। जब तक लघु सचिवालय का काम पूरा नहीं होता, तब तक हास्टल खाली नहीं होगा। ऐसे में यह प्रोजेक्ट भी साल 2022 में ही पूरा होगा।

--------------

लघु सचिवालय

अंबाला कैंट स्टाफ रोड पर लघु सचिवालय का निर्माण किया जा रहा है। इसका निर्माण कार्य नवंबर 2021 में पूरा करना था, लेकिन अभी यह पूरा नहीं हो पाया है। ऐसी स्थिति में यह प्रोजेक्ट भी साल 2022 में पूरा होगा। कैंट की जनता को एक छत के नीचे ही सरकारी विभागों की सेवाएं मिलेंगी। यह तीन मंजिला है, जबकि बेसमेंट में करीब सौ कारों की पार्किंग भी होगी।

--------------

मल्टीलेवल पार्किंग

अंबाला कैंट में मल्टीलेवल पार्किंग का निर्माण किया जा रहा है, जिसे इसी साल पूरा करने का दावा था। लेकिन यह प्रोजेक्ट भी अभी तक लटका है, जबकि अब यह प्रोजेक्ट भी साल 2022 में ही पूरा होगा। बीते दिनों एडीसी ने दौरा कर निर्माण कार्य का जायजा लिया था और निर्माण एजेंसी को नोटिस जारी करने के भी निर्देश दिए थे। यह अंबाला कैंट में पार्किंग की समस्या को काफी हद तक कम कर देगा।

--------------

कैंसर टर्सरी सेंटर अस्पताल

अंबाला कैंट के नागरिक अस्पताल परिसर में बन रहा 72 करोड़ की लागत से कैंसर टर्सरी सेंटर साल 2022 में जनता को समर्पित होगा। यहां पर मशीनरी आदि लाई जा चुकी है, जबकि निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। माना जा रहा है कि अगले साल जनवरी में यह जनता को समर्पित कर दिया जाएगा। इससे अंबाला सहित आसपास के क्षेत्रों के कैंसर मरीजों को उपचार में राहत मिलेगी।

--------------

शहीदी स्मारक

अंबाला-दिल्ली हाईवे पर करीब तीन सौ करोड़ रुपये की लागत से तैयार हो रहा शहीदी स्मारक का काफी काम हो चुका है। यह प्रोजेक्ट भी जनता को जुलाई 2022 में समर्पित करने की तैयारी है। इसका करीब 80 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। इसके लिए मानीटरिग की जा रही है, जबकि अधिकारी भी लगातार दौरा कर रहे हैं।

--------------

यह बड़े प्रोजेक्ट भी मिलेंगे

- अंबाला कैंट नागरिक अस्पताल सौ बैड की क्षमता को दो सौ करना है, जो जून 2022 तक पूरा किया जाना है

- अंबाला में अंबाला-दिल्ली हाइवे पर बन रहा आर्यभट्ट विज्ञान केंद्र जून 2022 में पूरा होगा

- अंबाला के चंदपुरा में बन रहा होम्योपैथिक कालेज फरवरी 2024 में पूरा होगा

--------------

समय पर पूरे होंगे प्रोजेक्ट : एक्सईएन

पीब्डल्यूडी विभाग बी एंड आर के एक्सईएन निशांत कुमार ने कहा कि जो भी प्रोजेक्ट उनके अधीन चल रहे हैं और जिनकी डेडलाइन दिसंबर 2021 की है, उसे समय पर पूरा कर लिया जाएगा। नए साल में जनता को यह समर्पित हो जाएंगे।

Edited By: Jagran