जागरण संवाददाता, अंबाला : छावनी के हिम्मतपुरा क्षेत्र के लोग 100 साल से चोरी के पानी से प्यास बुझा रहे थे। लेकिन अब गांधी जयंती के मौके पर उनके घर में ही पीने का पानी पहुंचेगा। इसके लिए 23 लाख रुपये की लागत से ट्यूबवेल लगने का काम शुरू हो गया है। तीन कालोनियों के लोगों को पीने का पानी लेने के लिए दो किलोमीटर दूर तक जाना पड़ता था। वजह थी कि जिस जगह पर ट्यूबवेल लगाया जाना था उसे लेकर विवाद चल रहा था, लेकिन समाधान होते ही स्वास्थ्य मंत्री ने ट्यूबवेल का शिलान्यास कर दिया। हिम्मतपुरा क्षेत्र के गुलाब मंडी व दुधला मंडी के लोगों की अब पेयजल आपूर्ति की मांग पूरी हो सकेगी।

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कैटोनमैंट बोर्ड के तहत आने वाले इलाके में लगाये जाने वाले ट्यूबवेल का शिलान्यास करते हुए जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को आदेश दिये कि आज ही बिजली के कनेक्शन के लिए आवेदन कर दें ताकि 2 अक्तूबर गांधी जयंती पर इस इलाके के लोगों को स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति हो और प्रधानमंत्री स्वच्छ पेयजल योजना के तहत हर नागरिक का पेयजल का सपना साकार हो सके।

मंत्री ने कहा कि रेलवे कालोनी के साथ सटा होने और कैटोनमैंट बोर्ड के तहत आने की वजह से इस इलाके की दोनों ओर से अनदेखी की गई। यहां पर ट्यूबवेल लगाने के लिए जमीन का न मिल पाना एक बड़ी वजह रही। ट्यूबवेल लगाने के लिए रक्षा मंत्रालय से गुहार लगाई थी और जमीन मिलते ही प्रदेश सरकार ने ट्यूबवेल लगाने के लिए 23 लाख रुपये की राशि को स्वीकृति प्रदान कर दी। मौजूदा सरकार ने स्वच्छ पेयजल देने के लिए ट्यूबवेल का निर्माण शुरू करवाया है, जो अगले माह तक बनकर तैयार हो जाएगा। हिम्मतपुरा के हर घर को स्वच्छ पेयजल के कनेक्शन दिए जाएंगे। इलाके के लोगों को करीब 2 किलोमीटर दूर से पानी भरकर लाना पड़ता था जिनके घर में हैंडपंप नहीं है।

कैंटोनमेंट बोर्ड के उपाध्यक्ष अजय बवेजा ने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का आभार जताते हुए कहा कि आज लोगों के साथ-साथ सभी पार्षदों की भी ़खुशी का ठिकाना नहीं है, क्योंकि यहां के पार्षद गरीब दास जो अब उनके बीच नहीं हैं। इसीलिए ये ट्यूबवेल अनिल विज की तरफ से उन्हें एक श्रद्धांजलि होगी जो दो अक्टूबर को गांधी जयंती पर लोगो को साफ़ पेयजल दे पाएंगे। मौके पर कैंटोनमैंट बोर्ड के पार्षद सन्नी, राजु बाली, आसिमा, लक्ष्मी देवी, नीलम रानी, मंडल सचिव प्रमोद लक्की, कुणाल शर्मा, तेज बहादुर, पप्पू यादव, बच्चन ¨सह, जगदीश, मदन पट्टी, सुनील शर्मा, सोनाली उप्पल, ललिता प्रसाद, आशीष गुलाटी, नवनीत भाटिया मौजूद रहे।

---------------------

- हैडपंप का पानी पीने पर मजबूर थे

सरकार व उनके नुमाइंदों से स्वच्छ पेयजल की मांग की थी लेकिन किसी ने भी उनकी मांग की ओर ध्यान नहीं दिया था। लोगों को मजबूरी में हैडपंप का पानी पीना पड़ता था। पिछले सप्ताह साथ के इलाके चंद्रपुरी, शाहपुर और मच्छौंडा में पानी की निकासी के लिए 13 करोड़ से बनने वाले नाले के निर्माण का कार्य शुरू करवाया है।

कैंटोनमेंट बोर्ड के सीईओ वरुण कालिया ने बताया कि ये कार्य कैबिनेट मंत्री अनिल विज के निरंतर प्रयास से ट्यूबवेल लगाया जा रहा है। कैंटोनमेंट बोर्ड तो टयूबवेल के लिए केवल जगह मुहैया करवा रहा है।

Posted By: Jagran