जागरण संवाददाता, अंबाला : भिवानी के गांव अलखपुरा की बेटी ज्योति की किक से निकले गोल से हरियाणा टीम फाइनल में पहुंच गई है। हरियाणा ने सेमीफाइनल में छत्तीसगढ़ की टीम को 1-0 से हराया और दूसरे मैच में उड़ीसा ने मेघालय को 3-0 से मुकाबला जीत कर फाइनल का टिकट पक्का कर लिया है। रविवार को दोनों टीमें के बीच फाइनल में कड़ा मुकाबला होगा। सेमी फाइनल से पहले शनिवार सुबह अंबाला छावनी में चार क्वार्टर और दो सेमी फइनल मुकाबले खेले गए।

पहला क्वार्टर फाइनल केरला और मेघालय की टीम के बीच हुआ। इसमें मेद्यालय ने केरला को 1-0, उड़ीसा ने उत्तराखंड को 2-0, छत्तीसगढ़ ने मणिपुर को 1-0 और हरियाणा ने झारखंड को 3-0 से हराकर सेमी फाइनल में जगह बनाई थी। शाम को छावनी के केंद्रीय विद्यालय नंबर दो के फुटबॉल मैदान में पहला सेमीफाइनल हरियाणा और छत्तीसगढ़ के बीच हुआ। इस मैच में ज्योति ने मुकाबले के हाफ से पांच मिनट पहले गोल दाग कर अपनी टीम को बढ़त दिला दी। इसके बाद मैच रोमांचक हो गया। हरियाणा की टीम ने इसके बाद छत्तीसगढ़ की टीम को एक मौका भी गोल करने के लिए नहीं दिया और कप्तान शारदा ने छत्तीसगढ़ के खिलाड़ियों को गोल से रोकने के लिए जिम्मेदारी उठाई। इसी प्रकार उड़ीसा और मेघालय का मुकाबला भी हाफ तक रोमांचक रहा। लेकिन उड़ीसा की टीम हाफ के बाद से मेघालय की टीम पर पूरी तरह से हावी हो गई और एक के बाद एक तीन गोल दाग कर जीत हासिल की। अब हरियाणा और उड़ीसा की टीमें फाइनल में रविवार को आमने सामने होगी। इसके साथ ही स्कूल गेम्स फेडरेशन आफ इंडिया की ओर से आयोजित 64वीं फुटबॉल अंडर 19 ग‌र्ल्स नेशनल स्कूल गेम्स का समापन हो जाएगा।

Posted By: Jagran