जागरण संवाददाता, अंबाला शहर

अंबाला तीन बच्चों ने ऐसी छड़ी तैयार की है जो नेत्रहीनों को रास्ता बताएगी। किडोबॉटिक्स अंबाला के दक्ष गोयल जोकि छठी कक्षा में सेसिल कान्वेंट स्कूल के छात्र हैं, इसके अलावा डीएवी रिवर साइड 10वीं कक्षा के आर्यन अग्रवाल व डीपीएस पब्लिक स्कूल में आठवीं कक्षा में पढ़ रहे आकाश कुशवाहा ने सेंसर युक्त छड़ी का निर्माण किया है । छड़ी में लगा अल्ट्रासोनिक सेंसर व्यक्ति जिस दिशा में बढ़ रहा होगा उस दिशा में मौजूद अवरोध को काफी दूर से ही बिना किसी तार के पहचान लेगा और उसे ऑडियो संकेत में बदल देगा। इसके अलावा छड़ी आग, तापमान, बारिश और अकेले घर में होने पर भी रक्षा करेगी।

किडोबॉटिक्स की डायरेक्टर ज्योति गुप्ता ने बताया की नई पीढ़ी की ये छड़ी ना केवल बुजुर्गों को अपने घर का रास्ता ढूंढनें में मदद करेगी बल्कि उनके दिल की धड़कन और शरीर के तापमान पर भी नजर रखेगी। इस छड़ी में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सिस्?टम भी है, अगर इस छड़ी को इस्तेमाल करने वाला इंसान तय दिशा से दूसरी ओर मुड़ता है तो ये छड़ी वाइब्रेट करती हैं और सही दिशा की ओर इशारा करती है। अगर इस छड़ी का इस्तेमाल करने वाले बु•ाुर्ग के दिल की धड़कन अगर तेज होती है तो ये अपने आप आपतकालीन सेवाओं को सूचित कर देगी।

Posted By: Jagran