जागरण संवाददाता, अंबाला शहर : श्रावक जैन संघ सभा के चुनाव को पहले ही रद कर चुका है। इसे रद करने के बाद जिला प्रशासन की ओर से चुनाव करवाने के लिए हरी झंडी दे दी गई, लेकिन पूरी चुनाव प्रक्रिया में कोरोना गाइडलाइन का पालन करना होगा। ऐसे में कोरोना गाइडलाइन को पूरा करते हुए चुनाव करवाना आसान नहीं है। सभा के सदस्य 660 हैं, जिस कारण चुनाव स्थान पर अधिक लोग इकट्ठा होने पर कोरोना संक्रमण का खतरा है। इसके चलते रिटर्निंग आफिसर ने चुनाव करवाने में सहमति नहीं जताई।

बता दें कि श्रावक जैन संघ की ओर से चुनाव के लिए 16 जनवरी का दिन निर्धारित किया गया था, लेकिन इसके बाद चुनाव करवाने वाले रिटर्निंग आफिसर के पास जिला रजिस्ट्रार की ओर से पत्र भेजा गया, जिसमें कोरोना के चलते जिला प्रशासन से अनुमति लेने को कहा गया था। इस पर श्रावक जैन संघ चुनाव के रिटर्निंग आफिसर ने जिला प्रशासन से पत्राचार किया था और चुनाव करवाने के लिए अनुमति मांगी गई थी, लेकिन 12 जनवरी तक रिटर्निंग अधिकारी को सूचना वापस नहीं मिली थी। चुनाव में कम समय रह गया था, जिसके चलते कोरोना के साथ चुनाव की तैयारी करना आसान नहीं था। इस पर रिटर्निंग आफिसर ने हालात को देखते हुए इन्हें रद कर दिया गया था, लेकिन जैसे ही चुनाव को रद किया तो जिला प्रशासन की ओर से चुनाव करवाने के लिए हरी झंडी दे दी गई। ऐसे में चुनाव को लेकर असमंजस बन गई। लेकिन समय बेहद कम रहने और सख्त गाइडलाइन को देखते हुए चुनाव नहीं करवाने का फैसला लिया गया।

Edited By: Jagran