जागरण संवाददाता, अंबाला शहर : डीसी विक्रम सिंह ने कहा कि जिला में अवैध कालोनियों और निर्माणों ने जिला नगर योजनाकार (डीटीपी) व नगर निकाय कार्रवाई करे। इसके साथ प्लान 7-ए के तहत बराड़ा की रिपोर्ट बनाकर दी जाए। वे बुधवार को अपने कार्यालय में जिला टास्क फोर्स की बैठक ले रहे थे। उन्होंने अवैध कालोनियों व अवैध निर्माणों के संबध में विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा करते हुए विस्तार से जानकारी। बैठक के दौरान उनके साथ नगर निगम आयुक्त धीरेंद्र खडगटा भी मौजूद रहे।

डीसी ने जिला नगर योजनाकार को अवैध निर्माणों से संबंधित एनओसी की पैंडेंसी, कितनी एफआइआर दर्ज की गई हैं, के बारे में जानकारी ली। इसी तरह प्लान 7-ए के तहत बराड़ा क्षेत्र की रिपोर्ट एक सप्ताह में देने को कहा। उन्होंने जिला नगर योजनाकार को यह भी निर्देश दिये कि जब भी वह अवैध निर्माण/कालोनियों पर शिकंजा कसते हैं उसकी रिपोर्ट संबंधित क्षेत्र के एसडीएम के साथ-साथ तहसीलदार, नगर निगम व नगर परिषद को देना सुनिश्चित करें। जिले में अवैध निर्माणों, अवैध कालोनियों को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। नगर निगम आयुक्त ने जिला नगर योजनाकार को निर्देश दिये कि जब भी उनके विभाग द्वारा कहीं पर भी अवैध कालोनियों व अवैध निर्माण से संबंधित कोई कार्रवाई की जाती है तो उस बारे नगर निगम एवं नगर परिषद को बताना सुनिश्चित करें ताकि संयुक्त रूप से निरीक्षण का कार्य किया जा सके।

जिला नगर योजनाकार सविता जिदल ने बताया कि विभाग द्वारा समय-समय पर अवैध निर्माणों पर शिकंजा कसने का काम किया जा रहा है, दो एफआइआर भी दर्ज की गई हैं। उन्होंने एसडीएम, जिला नगर योजनाकार, लोक निर्माण विभाग, एनएचएआइ के साथ-साथ अन्य संबंधित विभाग के अधिकारियों की भी बैठक लेते हुए उपमंडल क्षेत्र में अवैध निर्माणों की समीक्षा का कार्य करें। बैठक में एसडीएम सचिन गुप्ता, एसडीएम गिरीश कुमार, डीएमसी अरुण भार्गव, डीएमसी अपूर्व चौधरी, कार्यकारी अभियंता जसविन्द्र मलिक, एमई विपिन कुमार, तहसीलदार मुनीष यादव, नवनीत कुमार, दिनेश ढिल्लो, नायब तहसीलदार अमित वर्मा आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran