फोटो: 11, 14, 15, 16, 17, 18, 20

जागरण संवाददाता, अंबाला:दीना की मंडी में इन दिनों काफी बुरा हाल है। जगह-जगह गंदगी का ढ़ेर लगा हुआ है। पानी की व्यवस्था ना होने के कारण रेहड़ी वालों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। पास में टॉयलेट के पास लगी टोटियों का पानी लेकर सब्जियां साफ करनी पड़ी रही है। इतना ही नहीं बेसहारा पशुओं से भी रेहड़ी वाले परेशान हैं। पशु उनकी सब्जियां तक खा जाते हैं। तमाम परेशानियों में रोजगार करना रेहड़ी-फड़ी वालों के लिए मुसीबत बन गया है। करीब चार बार नगर परिषद के अधिकारियों को भी शिकायत दे चुके हैं। मगर इनकी परेशानी सुनने वाला कोई नहीं है। रेहड़ी-फड़ी वालों से बातचीत की गई तो उन्होंने पुलिस और नगर परिषद के अफसरों की पोल खोल दी। दीना की मंडी में कुछ भी सुविधा नहीं दी जा रही है। यहां तक कई बार चोरी की घटनाएं भी हो चुकी हैं।

-------------

पुलिस-प्रशासन सड़कों पर रेहड़िया लगाने वालों पर क्यों है मेहरबान

दीना की मंडी में रेहड़ियां लगाने वाले लोगों का आरोप है कि जब वह सड़क के किनारे रेहड़ियां लगाते थे तो पुलिस भी मारपीट करती थी। नगर परिषद के अधिकारी कई बार रेहड़ियां भी जब्त कर ले गए। लेकिन अब दीना की मंडी और हिल रोड पर सब्जियां लगाई जा रही हैं। इनके खिलाफ पुलिस प्रशासन कार्रवाई क्यों नहीं करता।

--------------

ग्राहक न आने से खराब हो रही सब्जियां

दीना की मंडी में विक्रेता काफी परेशान हैं। क्योंकि मंडी में बदहाली के चलते ग्राहक भी नहीं आ पा रहे हैं। वहीं दीना की मंडी के बाहर सड़कों पर करीब 20 रेहड़ियां लग रही हैं। इन रेहड़ी वालों के यहां भीड़ लगी रहती है। दीना की मंडी में लोग मायूस होकर बैठे रहते हैं। ग्राहक ना आने की वजह से उनकी सब्जियां भी खराब हा रही हैं। मुनाफा होने के बजाए रोजाना 300-400 रुपये का नुकसान उठाना पड़ रहा है।

-------------

फोटो: 16

मंडी में बहुत बुरा हाल है। गंदगी में सब्जी बेचनी पड़ रही है। शिकायत के बाद भी कोई सुनने वाला नहीं है।

अनिल कुमार, विक्रेता

----------

फोटो: 17

गंदगी के कारण मंडी में बुरा हाल हो गया है। यहां पर पानी तक की व्यवस्था नहीं है। कई बार चोरी की घटनाएं भी हो चुकी।

बैशाखीराम, प्रधान

-----------

फोटो: 18

हम काफी परेशान हैं। बाहर रेहड़ी वालों के पास भीड़ लगी रहती है। लेकिन मंडी में ग्राहक नहीं आ पा रहे हैं।

राहुल, विक्रेता

-------------

फोटो: 20

सब्जी बेच पाना हमारे लिए बहुत मुश्किल हो गया है। दिन में मजदूरी भी नहीं निकल पाती है।

विशाल, विक्रेता

-------------

नगर परिषद के ईओ अपूर्व गुप्ता का कहना है कि रेहड़ी-फड़ी वालों की जो भी समस्या है, उसका निस्तारण किया जाएगा। अगर लोग सड़कों पर रेहड़ियां लगा रहें हैं तो उन पर कार्रवाई की जाएगी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021