जागरण संवाददाता, अंबाला : मौसम में अचानक धीरे-धीरे बदलाव के साथ ठंड की शुरुआत हो रही है। वातावरण बदलने के साथ वायरल से पीड़ित मरीज अस्पताल में इलाज कराने के लिए पहुंचने लगे हैं। इसमें मलेरिया, टायफाइड से लेकर डेंगू के मरीजों की संख्या में अचानक इजाफा होने लगा। ऐसी स्थिति में अब स्वास्थ्य महकमे को कोरोना के साथ वायरल, टायफाइड और डेंगू जैसी बीमारियों की चुनौतियों का सामना करना होगा। स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना के अलावा डेंगू के डंक को बेअसर करने सहित वायरल से निपटने की कार्ययोजना पर काम शुरू कर दिया है।

----------------

ब्लड जांच कराने की दे रहे सलाह

डेंगू, मलेरिया और टायफाइड के लक्षण मिलने पर चिकित्सक खून की जांच कराने की सलाह दे रहे हैं। नागरिक अस्पताल शहर और छावनी में रोजाना 10 से 20 मरीजों के नमूने लिए जा रहे हैं। इसमें करीब 20 फीसद की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है।

---------------

क्या हैं डेंगू के लक्षण

डेंगू के मरीज को सर्दी लगकर तेज बुखार आना, घबराहट होना, आंखों के पीछे दर्द होना, सांस लेने में तकलीफ होना, उल्टी होना शरीर जोड़ों व पेट में दर्द होना शुरू हो जाता है। इसके बाद धीरे-धीरे मरीज की प्लेटलेट्स कम होने लगती है, जिससे उसके नाक व मुंह से खून आने लगता है। साथ ही पीठ व भुजाओं पर लाल दाने निकलने लगते हैं। इसके बाद की स्थिति में पल्स रेट बढ़ने लगती है। शरीर में कमजोरी आने लगती है तथा अचानक से बेहोशी आने लगती है।

------------

ऐसे करें बचाव

मच्छरों से छुटकारा पाने के लिए घर में पानी जमने नहीं दें। अगर कूलर में पानी है तो प्रत्येक सप्ताह निकाल कर अच्छे से साफ करें। दिन में पूरी बाजू के कपड़े पहनें। रात में मच्छरदानी का प्रयोग अवश्य करें। खासतौर से संक्रमित व्यक्ति को मच्छरदानी में ही सुलाना चाहिए।

------------

मलेरिया विभाग ने नष्ट किए एंटी लार्वा

डेंगू के डंक को बेअसर करने के लिए मलेरिया विभाग की टीम ने शहर से लेकर छावनी में घर-घर सर्वे किया। सर्वे के दौरान एकत्र साफ पानी को खाली कराया। इसमें कूलर, खाली गमले, पानी की टंकियों की जांच की। जांच के दौरान जहां भी डेंगू का लर्वा दिखा वहां दवा का छिड़काव कराया।

----------------

स्वच्छ पानी पीने की सलाह

नागरिक अस्पताल अंबाला शहर के डा. शुभ ज्योति प्रकाश बताते हैं कि मौसम बदलने के साथ वायरल बीमारियां बढ़ जाती हैं। डेंगू, मलेरिया और टायफाइड के मरीजों को खास सावधानी बरतने की आवश्यकता है। टायफाइड पीड़ित मरीज स्वच्छ पानी पीएं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस