जागरण संवाददाता, अंबाला शहर : शहर के बसंत विहार निवासी केबल संचालक जगदीश शर्मा के बेटे शुभम को जूस में नशीला पदार्थ पिलाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। परेशान व गुस्साए परिवार ने अपने दर्जनों साथियों के साथ एसएचओ बलदेवनगर इंस्पेक्टर रजनीश यादव से संपर्क कर अपना पक्ष रखा। न्याय की गुहार लगाते हुए साफ किया कि इस मामले के अलावा चोरी के दर्ज उस मामले की भी जांच की जाए तो सैय्यद अहमद खान ने बयानों पर उनके पार्टनर इरफान खान व अन्य के खिलाफ दर्ज किया गया है। एसएचओ रजनीश व चौकी इंचार्ज धर्मबीर सैनी ने उन्हें आश्वासन दिया कि किसी के साथ भी अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। जांच में जो सच्चाई सामने आएगी, उसी आधार पर कानूनी प्रक्रिया अमल में लाई जाएगी। पुलिस ने उन्हें 24 जुलाई को एसीपी नितिका गहलोत द्वारा की जा रही दोनों मामलों की जांच में शामिल होने के लिए कहा। अभी तक युवक सरकारी अस्पताल में उपचाराधीन है। उसके स्वास्थ्य में आवश्यक सुधार हुआ है।

जानकारी के अनुसार कालेज से वापस लौट रहे शुभम को नशीला पदार्थ देने के मामले में उसके परिवार व सहयोगी पशोपेश में हैं। वे हर हाल में आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई को लेने के मूड़ में हैं। इसी के चलते बलदेवनगर चौकी पहुंचे परिजनों ने पूरा घटनाक्रम विस्तार से बताया तथा आरोपियों के चेहरे सार्वजनिक किए। पुलिस को बताया कि इरफान तथा सैय्यद अहमद खान के मध्य केबल को लेकर विवाद चल रहा है। इरफान ने पहले पुलिस को शिकायत दी थी। बलदेवनगर चौकी पुलिस दोनों पक्षों को बुलाती रही। इरफान हर बार आकर इंतजार करके जाता रहा। कुछ दिन पूर्व उसे पता चला कि उसके खिलाफ सैय्यद की शिकायत पर चोरी का प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। अभी कोई कुछ समझ भी नहीं पाया था कि शुभम को जूस में नशीला पदार्थ दे दिया गया। जगदीश ने बताया था कि उनके बेटों को बलदेवनगर इलाके में रास्ते रोककर दो युवकों ने कहा कि वह इरफान का साथ छोड़ दे। उनके साथ काम करे। शुभम ने जवाब दिया कि केबल का काम उनके पिता व भाई करते हैं, वह उनसे पूछेगा। शिकायत के अनुसार उस दौरान सय्यद कुछ दूरी पर कार में बैठा था। आरोपियों ने उसे परिवार से बातचीत से रोका तथा बहाने से जूस में नशीला पदार्थ पिला दिया था। तबीयत खराब होने के बाद किसी जानकार ने शुभम को घर छोड़ा। रात तबीयत ज्यादा खराब होने के कारण उसे ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया था। परिवार का आरोप है कि केबल की रंजिश में शुभम को नशीला पदार्थ पिलाकर नुकसान पहुंचाने का प्रयास किया गया। एसपी अभिषेक जोरवाल ने मामले की जांच एसीपी नितिका गहलोत को सौंपी थी। इंस्पेक्टर रजनीश यादव के अनुसार शुभम के परिवार को आश्वासन दिया गया है कि नशीला पदार्थ पिलाने व चोरी के केस की जांच की जा रही है। वास्तविकता के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। किसी को कानून से खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021