जागरण संवाददाता, अंबाला : इन दिनों मार्केट में पोलेरॉयड चश्मों की काफी डिमांड बढ़ रही है। लोगों में इसका क्रेज ज्यादा है और यह स्टाइलिश लुक भी प्रदान कर रहे हैं। धूप के समय तो यह चश्मे जहां आंखों को कूलिग इफेक्ट देते हैं, वहीं ग्राहकों को भी यह खूब भा रहे हैं। धीरे-धीरे सामान्य कलर चश्मों की सेल भी कम हो रही है, जबकि इनका स्थान पोलेरॉयड चश्मों ने ले लिया है।

इस तरह से बढ़ रही मार्केट

बाजार में इन दिनों पोलेरॉयड चश्मों की डिमांड बढ़ रही है। इसका खास अंदाज लोगों को कायल बना रहा है। खासकर युवा वर्ग इन चश्मों को खूब खरीद रहा है।धूप के आम चश्मों की बात करें, तो यह धूप का इफेक्ट आंखों तक पहुंचा देते हैं। इसी इफेक्ट के कारण कई बार आंखों पर इसका असर पड़ता है, जिसके चलते आंखों में दर्द महसूस होता है। लेकिन यह कुछ देर के लिए होता है और इसके बाद यह खत्म हो जाता है। लेकिन पोलेरॉयड चश्मे आंखों को कूलिग इफेक्ट देते हैं और धूप का इफेक्ट आंखों तक पहुंचने नहीं देते हैं। इसी कारण से आंखों पर इसका असर नहीं पड़ता, जबकि सूर्य की अल्ट्रावायलट किरणों को भी यह चश्मे आंखों तक पहुंचने नहीं देते, जिससे तेज धूप में भी आंखों पर दबाव नहीं पड़ता।

200 से 7500 रुपये तक कीमत

मार्केट में इन दिनों धूप के चश्मों की कीमत 200 रुपये से लेकर 7500 रुपये तक की है। बजट के अनुसार ग्राहक इन चश्मों को खरीदता है। लेकिन सबसे ज्याद सेल 500 से 1000 रुपये कीमत के चश्मों की है। इससे ऊपर की रेंज भी बिक रही है, जिसे ग्राहक अपने बजट के हिसाब से खरीदता है।

यह कहते हैं विक्रेता

चश्मों के विक्रेता विशाल वालिया ने बताया कि धूप के चश्मों की वैरायटी काफी अधिक है और उसी हिसाब से इनके रेट हैं। बच्चों से लेकर हर आयु वर्ग का व्यक्ति इन चश्मों को खरीद रहा है। यह तेज धूप के इफेक्ट से बचाते हैं। धीरे-धीरे पोलेरॉयड चश्मे काफी प्रचलन में आ चुके हैं।

Posted By: Jagran