शिकायतकर्ता बहन ने अपने भाई पर दर्ज करवाया था मामला संवाद सहयोगी, नारायणगढ़

पिता की मौत के बाद किसी अन्य को पिता बताकर प्लॉट अपने नाम करवाने के मामले में पुलिस ने रजिस्ट्री के दौरान गवाह रहे अनिल कुमार को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित को कोर्ट में पेश किया। इसमें कई आरोपित फरार हैं, जिनमें पांच महिलाएं भी हैं। यह मामला आरोपित की बहन ने ही सीएम ¨वडो पर शिकायत देकर नारायणगढ़ थाने में दर्ज करवाया था।

वार्ड-11 निवासी बचना राम की मौत जनवरी 2011 में हो गई थी। उसके बेटे म¨नद्र ¨सह ने वर्ष 2012 में अपने पिता की जगह किसी अन्य को खड़ा कर एक फर्जी हिब्बानामा अपने नाम करवा लिया। इस बारे में जब म¨नद्र की बहन मीनाक्षी निवासी थम्बड़ को पता चला तो उसने इस संबंध में एक शिकायत पुलिस के उच्च अधिकारियों को करने के साथ-साथ अदालत में भी याचिका दायर कर दी। इस संबंध में मई में एक शिकायत सीएम ¨वडो पर दायर की। जांच में पता लगा कि उसके इकलौते भाई म¨नद्र ¨सह अपने पिता बचना राम की मौत के लगभग एक वर्ष बाद शहर के वार्ड नंबर 5 में स्थित एक पांच मरले के प्लॉट को फर्जी तरीके से अपने नाम करवा लिया। मीनाक्षी की इस शिकायत पर 28 मई को पुलिस ने मीनाक्षी के भाई म¨नद्र ¨सह, नंबरदार दूनीचंद, अनिल कुमार गवाह निवासी गांव कुराली, शकुंतला, रजनी, धनवंत, निर्मल, शम्मी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी थी।

Posted By: Jagran