कुलदीप चहल, अंबाला

रक्षा सेवाओं में अपनी ड्यूटी दे रहे हरियाणा के कर्मचारियों को इस बार ई पोस्टल बैलेट से अपना वोट डालेंगे। इसका प्रयोग लोकसभा चुनावों में किया गया था, लेकिन विधानसभा चुनावों में यह पहली बार किया जा रहा है। अंबाला के ऐसे 4138 वोटर ऐसे हैं, जो रक्षा सेवाओं में अपने जिलों से दूर हैं। खास है कि इस ई पोस्टल बैलेट पर क्यूआर कोड होगा, जिसे वेरिफाई करने के बाद ही इसे सही माना जाएगा। लोसकभा चुनावों में सर्वर ठप होने के कारण कई जिलों में दिक्कतें झेलनी पड़ी थी, जिसका असर मतगणना पर पड़ा था। माना जा रहा है कि हरियाणा में हो रहे विधानसभा चुनावों में यह काफी फायदेमंद रहेगा।

---------------

ई पोस्टल बैलेट में होगा क्यूआर कोड

जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा हरियाणा के विभिन्न जिलों के उन मतदाताओं, जो रक्षा सेवाओं में अपने जिले से बाहर ड्यूटी दे रहे हैं, को ई पोस्टल बैलेट उनके कमांडेंट को भेजा जाएगा। ई पोस्टल बैलेट को ड्यूटी पर तैनात हरियाणा के कर्मचारी को उनका कमांडेंट देगा। मतदाता को उनके संस्थान के अधिकारी से इलेक्ट्रॉनिक जेनरेटिड पोस्टल बैलेट मिलेगा है, जिसमें क्यूआर कोड होगा। सर्विस वोटर इस पर हस्ताक्षर करने के बाद इसे अपने अधिकारी के पास जमा करवाएगा। इस बैलेट को पोस्ट से चुनाव क्षेत्र में अधिकारियों के पास भेजते हैं। अधिकारी जब मतगणना शुरू करते हैं तो स्कैनर से क्यूआर कोड स्कैन किया जाता है, ताकि इसे वेरिफाई किया जाए कि जो फार्म भेजा गया है, वह सही या गलत।

---------------

लोकसभा चुनाव में आई थी दिक्कत, विस चुनाव में होगी आसानी

लोकसभा चुनावों के दौरान ई पोस्टल बैलेट सिस्टम अपनाया गया था, लेकिन सर्वर पर लोड ज्यादा होने के कारण परेशानियां आईं। कई जगहों पर मतगणना का कार्य देरी से शुरू हुआ था। अब विधानसभा चुनावों में इसका इस्तेमाल किया जाएगा। माना जा रहा है कि विस चुनाव में यह सिस्टम काफी सही रहेगा और दिक्कत नहीं आएगी।

----------

ई पोस्टल बैलेट का इस्तेमाल विधानसभा चुनाव में किया जा रहा है। अंबाला में ऐसे 4138 सर्विस वोटर हैं, जो इसका इस्तेमाल करेंगे। इसका क्यूआर कोड भी स्कैन किया जाएगा जो ई-पोस्टल बैलेट को वेरिफाई किया जाएगा। इसके बाद ही इसे मतगणना में काउंट किया जाएगा।

- अशोक शर्मा, डीसी अंबाला

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस