अंबाला, जागरण संवाददाता: रेलवे संपत्ति की चोरी में पुरुष ही नहीं बल्कि महिलाएं भी शामिल हो गई हैं जो कुछ पैसों के लालच में रेलवे ट्रैक किनारे लगे सामान को चोरी करते हुए ट्रेन संचालन के लिए खतरा पैदा कर रही हैं। ऐसी ही तीन महिलाओं को रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) की सतर्क टीम ने उस समय गिरफ्तार किया, जब आरोपित महिलाएं रेलवे लाइन के नजदीक छिपाए गए लोहे के सामान को लेने पहुंची। आरोपितों के कब्जे से लगभग 2200 रुपये का सामान मिला है। आरोपितों को पकड़ने में एसआई कविता, एएसआई विपिन और कांस्टेबल धर्मपाल ने अहम भूमिका निभाई।

आरपीएफ पोस्ट प्रभारी जावेद खान ने बताया कि 29 सितंबर रात को उनकी टीम अंबाला सिटी और शंभु सेक्शन पर तैनात थी। इस दौरान तीन महिलाएं उन्हें संदिग्ध अवस्था में रेलवे लाइनों के नजदीक घुमती नजर आई। टीम नजदीक ही झाड़ियों में छिप गई और महिलाओं की निगरानी करने लगी।

कुछ देर बाद तीनों महिलाओं ने रेलवे लाइन के नजदीक छिपाए सामान को अपने बैग में डाल लिया। लेकिन उनके भागने से पहले ही सतर्क आरपीएफ टीम ने तीनों को मौके पर ही पकड़ लिया। जब उनके बैग की तलाशी ली तो इसके अंदर से तीन लोहे की पत्तियां बरामद हुई जोकि रेलवे लाइनों के अर्थिंग के लिए काम में लाई जाती हैं।

आरोपित महिलाएं सिटी के मनमोहन नगर की बताई गई हैं। वहीं प्राथमिक पूछताछ में आरोपित महिलाओं ने बताया कि इससे पहले भी वो तीन-चार बार रेलवे संपत्ति की चोरी कर चुकी हैं और इसे चलते-फिरते कबाड़ियों को बेच चुकी हैं। तीनों आरोपितों को शुक्रवार दोपहर कोर्ट में पेश किया गया और यहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

Edited By: Kapil Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट