जागरण संवाददाता, अंबाला : छावनी क्षेत्र में रहने वालों को गर्मी में डिमांड के मुताबिक पानी मुहैया कराई जा सके, इसके लिए पब्लिक हेल्थ विभाग कार्ययोजना तैयार करने में जुटा है। क्षेत्र में पानी की सप्लाई की तैयारी के लिए खाका तैयार किया जा रहा है। चूंकि गर्मी के सीजन में पेयजल की डिमांड क्षेत्र में बढ़ जाती है। इसलिए पेयजल व्यवस्था को लेकर निगम का जलकार्य विभाग भी सक्रिय हो चुका है। लिहाजा इस बार गर्मी के सीजन में लोगों को असुविधा नहीं होगी और पर्याप्त पानी लोगों को मिलेगा। पब्लिक हेल्थ विभाग के रिकार्ड में छावनी क्षेत्र में 39 हजार किमी पाइप लाइन बिछाई जा चुकी है। यह सभी पाइप लाइन एक दूसरे ट्यूबवेल और पानी की टंकियों से इंटरकनेक्ट हैं। ताकि यदि कहीं की पाइप लाइन में किसी तरह की समस्या के कारण जलापूर्ति में बाधा आए तो दूसरी पाइप लाइन से लोगों के घरों में पानी पहुंचाया जा सके। इसके लिए 11 पानी की टंकी और अंबाला सदर क्षेत्र में पब्लिक हेल्थ विभाग की 106 ट्यूबवेल चल रहे हैं।

------------------------

प्रति व्यक्ति 135 लीटर रोजाना पानी देने का लक्ष्य

पब्लिक हेल्थ विभाग की कार्ययोजना के मुताबिक शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में निवास करने वालों के लिए रोजाना पानी देने का लक्ष्य बनाया गया है। इसमें सरकार की तरफ से तय गाइड लाइन को ध्यान में रखा जा रहा है। शहरी क्षेत्र में रहने वाले प्रत्येक नागरिक को एक दिन यानी 24 घंटे में 135 लीटर पानी दिया जाएगा। इसी तरह ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को रोजाना 33 लीटर पानी मिलेगा। जवाब दे चुकी टंकियां चिन्हित

अंबाला छावनी क्षेत्र में चार ट्यूवबेल टंकी में पानी चढ़ाने में बेकार साबित हो रहे हैं। इन सभी को रिबोर कराने की आवश्यकता जताते हुए मुख्यालय को प्रस्ताव भेजा। अब मुख्यालय से ट्यूबवेल को रिबोर करने की स्वीकृति मिल चुकी है। पर पब्लिक हेल्थ विभाग ट्यूबवेल को रिबोर करने की योजना पर काम शुरू कर दिया है। कार्ययोजना परिषद को ट्रांसफर

जलापूर्ति के लिए पब्लिक हेल्थ विभाग की कई महत्वपूर्ण कार्ययोजना नगर परिषद के खाते में ट्रांसफर हो गई। पब्लिक हेल्थ से ट्रांसफर होकर नगर परिषद को मिली योजनाओं को अमरूद स्कीम में शामिल कर दिया। अंडरग्राउंड वाटर टैंक भी है

छावनी क्षेत्र में पानी स्टोर करके उसे कालोनियों में सप्लाई करने के लिए जगह जगह अंडरग्राउंड वाटर टैंक भी बनाए गए हैं। इन वाटर टैंक में नहरी से लेकर ट्यूबवेल से आने वाले पानी को स्टोर किया जाता है। इसके बाद बूस्टर से पानी को साफ करके लोगों के घरों में सप्लाई कर दी जा रही है। ऐसे में पानी की समस्या होने की कम संभावना जताई जा रही है। वर्जन

फोटो : 07

गर्मी में पानी की समस्या न होने पाए इसके लिए पहले ही कार्ययोजना तैयार की जा चुकी है। अंडरग्राउंड पाइप लाइन से लेकर ट्यूबवेल और पानी की टंकियों का निरीक्षण करने के लिए संबंधित एसडीओ से लेकर तकनीकी कर्मचारियों को लगाया गया है। जहां भी कमी की बात सामने आ रही है, उसे मुहिम चलाकर दूर किया जा रहा है। हमें पूरी उम्मीद है कि छावनी क्षेत्र में गर्मी में लोगों को पानी की जरा भी दिक्कत नहीं होगी।

अनिल चौहान, एक्सईएन पब्लिक हेल्थ विभाग अंबाला।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस