संवाद सहयोगी, नारायणगढ़: बड़ागांव के सेशन जज हत्या के मुख्य गवाह की सुरक्षा और बढ़ा दी गई है। उसकी सुरक्षा में 11 जवान तैनात रहेंगे, जिनमें दो गनमैन होंगे। पुलिस ने मामले की जांच करते हुए कुछ डम्प भी उठाए हैं। आरोपितों तक पहुंचने के लिए पुलिस जुटी हुई है।

बता दें कि गांव बड़ागांव के मृतक सेशन जज के भाई विजय कुमार ने डीएसपी को शिकायत देकर आरोप लगाया था कि 27 जनवरी को देर शाम करीब 7 बजे एक सिल्वर कलर की बिना नंबर की कार घर के पास आई। जिसमें तीन लोग सवार थे उन्होंने गांव के विक्रम से पूछा की उन्हे विजय व रामबीर से मिलना है। इस पर वह घर पर लेकर आ गया। रामबीर भी घर पर था और वह जैसे ही बाहर निकला तो उसे पहले उन तीन युवकों ने बात की फिर उसे जबरदस्ती गाड़ी में बिठाने लगे। उन्होंने कहा कि अगर तुम ने गवाही दी तो तुम्हारा भी अंजाम बुरा होगा। इतने में तभी उसका गनमैन बाहर आया तो वह भाग गए। चार आरोपित पकड़ से बाहर

बड़ागांव के अध्यापक एवं सरपंच पति सेशनजज 9 जुलाई 2018 को अपनी बाइक से स्कूल जा रहा था। बाकरपुर गांव के पास सेशनजज की गोलियों से हत्या कर दी थी। पुलिस ने 11 के खिलाफ मामला दर्ज किया था। लेकिन अभी भी उसके चार आरोपित पुलिस पकड़ से बाहर हैं।

---

पहले भी एक मुख्य गवाह रणधीर ¨सह की हत्या हो चुकी

गांव महुआखेडी के गुरदीप ¨सह हत्या कांड का मुख्य गवाह रणधीर को जान से मारने की धमकियां कई बार मिल चुकी थी। पुलिस में शिकायत करने के बावजूद पुलिस ने केस को सख्ती में नहीं लिया जिस कारण 13 मई 2018 को कार सवार हमलावरों ने गोलियों से हत्या कर दी थी।

---

शिकायत मिली थी जिस पर पुलिस ने तीन अज्ञात आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। मौके पर पहुंच कर कुछ डम्प उठाए गए हैं। आरोपितों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उनके यहां 11 पुलिस कर्मी तैनात किये हैं, ख्य गवाह रामबीर व विजय को एक-एक गनमैन दिया हुआ है।

अमित भाटिया, डीएसपी, नारायणगढ़।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप