अहमदाबाद, जागरण संवाददाता। गुजरात के उपमुख्‍यमंत्री व वित्तमंत्री नितिन पटेल ने कहा है कि आत्‍मनिर्भर योजना में सभी को लोन नहीं मिल सकता। बैंकों को अपने पैसों की चिंता होती है, इसलिए लोन के लिए दो गारंटर जरूरी है। मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी ने योजना की घोषणा के दौरान एक लाख तक का लोन बिना किसी गारंटी के देने की बात कही थी।

गुजरात सरकार की ओर से गत दिनों राज्‍य की अर्थव्‍यवस्‍था व व्‍यापार जगत को तेजी से पटरी पर लाने के लिए प्रदेश के छोटे कारोबारी, तकनीकी कामगार, युवाओं व घरेलू उद्यमों को एक लाख रुपये तक का लोन देने की घोषणा की थी। सरकार ने करीब 5000 करोड़ रुपये का लोन बांटने की बात कही थी। मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा था कि नागरिक बैंक, स‍हकारी बैंक व क्रेडिट सोसायटी के माध्‍यम से राज्‍य के लोगों को एक लाख रुपये तक का लोन दिया जाएगा। छह माह तक इस लोन की ईएमआई तथा ब्‍याज नहीं भरना है तथा लोन को तीन साल में चुकाने की छूट दी गई है।

शुक्रवार को वित्‍तमंत्री नितिन पटेल ने दो टूक कहा कि बैंकों को भी अपने धन की चिंता होती है, इसलिए आवेदन करने वाले सभी लोगों को लोन नहीं मिल सकता, इसके लिए दो गारंटर देने होंगे। 

गौरतलब है कि गुजरात में वीरवार को कोरोना वायरस के 371 नए मामले सामने आए थे और 24 लोगों की मौत हुई है। राज्य में अब तक 12,910 संक्रमित सामने आ चुके हैं, इनमें से 773 की जान जा चुकी है। अहमदाबाद में 233 नए केस मिले हैं और 9,449 संक्रमित हो गए हैं। महानगर में अब तक 619 लोगों की जान भी जा चुकी है। गुजरात में कोरा का प्रकोप रोजाना बढ़ता ही जा रहा है। वहीं, सरकार ने भी कोरोना की जांच में इजाफा किया है। वहीं, लॉकडाउन के चलते गुजरात में फंसे कई राज्यों को उनके घर भेजा जा चुका है।

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस