अहमदाबाद, शत्रुघ्‍न शर्मा। दिग्‍गज नेता व एनसीपी के प्रदेश अध्‍यक्ष शंकर सिंह वाघेला अपने सुप्‍त संगठन शक्तिदल को एक बार फिर खड़ा कर गुजरात की राजनीति में अपना आखिरी दांव खेलने की तैयारी कर रहे हैं। आगामी रविवार को अहमदाबाद में शक्तिदल के शिविर के बहाने बापू शक्ति प्रदर्शन करेंगे।

राष्‍ट्रीय स्‍वयं सेवक संघ के स्‍वयंसेवक से गुजरात के पूर्व मुख्‍यमंत्री बने वाघेला लंबे समय तक गुजरात कांग्रेस की कमान संभाल चुके हैं। गुजरात की सियासत में बापू के नाम से मशहूर वाघेला ने कांग्रेस में रहते 2004 में संघ की तर्ज पर शक्तिदल का गठन किया था, जिसमें हजारों युवक सक्रिय सदस्‍य बने थे लेकिन कांग्रेस के दबाव के चलते दल को विसर्जित करना पडा। सूत्र बताते हैं कि संगठन को फिर से खड़ा करने के लिए आर्थिक संकट आया तो उन्‍होंने अपने दो प्‍लॉट भी बेच दिए, जिससे पता चलता है कि वाघेला प्रदेश की राजनीति में कोई बड़ी भूमिका की तैयारी कर रहे हैं। वाघेला अपनी आखिरी सियासी पारी में शानदार प्रदर्शन करने के लिए गांव- गांव घूम रहे हैं।

एनसीपी ने विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन के लिए दरवाजे खुले रखे, लेकिन कांग्रेस ने इसमें कोई दिलचस्‍पी नहीं दिखाई। बताया जा रहा है कि वाघेला देश के युवा रणनीतिकार व जदयू नेता प्रशांत किशोर के भी संपर्क में हैं। नई दिल्‍ली में दोनों नेताओं की दो तीन बार मुलाकातें भी हो चुकी है। पार्टी नेता यह भी बताते हैं कि राष्‍ट्रीय स्‍तर पर ही एनसीपी व जदयू में गठजोड़ की प्रबल संभावनाएं है तथा गुजरात में बापू के साथ मिलकर कुछ खास करने की रणनीति पर विचार की संभावना है।

वाघेला ने आगामी रविवार को रिवरफ्रंट पर शक्तिदल का प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया है, जिसमें दस हजार युवक शामिल होंगे। नीले सफारी सूट व हाथ में प्‍लास्टिक का डंडा लिए शक्तिदल के कार्यकर्ता एक बार फिर अहमदाबाद में नजर आएंगे। वाघेला शक्तिदल के बहाने अपने शक्ति प्रदर्शन की तैयारी कर रहे हैं, ताकि सत्‍ताधारी भाजपा व प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस को चुनौती दी जा सके। एनसीपी उपचुनाव में सभी छह सीटों पर चुनाव लड़ रही है, इससे पहले जूनागढ़ महानगर पालिका के चुनाव में पार्टी बापू के नेतृत्‍व में अपना खाता खोल चुकी है।

गुजरात की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस