अहमदाबाद, जेएनएन। Coronavirus: गुजरात सरकार ने कोरोन वायरस के कहर के कारण राज्य के किसानों को कृषि कर्ज की अदायगी में दो महीने की राहत दी है। अब किसान 31 मार्च तक अदा की जाने वाली कृषि ऋण की किश्त मई तक भर सकेंगे। इस निर्णय से राज्य के 24.21 लाख किसानों को इसका लाभ मिलेगा।

राज्य के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा कि किसानों की तैयार फसल की बिक्री बंद है। इस कारण किसानों के पास रुपये नहीं हैं। किसान बैंकों से लिया गया ऋण अदा नहीं कर सकते। बैंक किसानों को अदायगी के लिए नोटिस दे रहे हैं। किसानों की इस समस्या के निराकरण के लिए सरकारी व सहकारी बैंकों के ऋण की अदायगी 31 मार्च से बढ़ाकर मई तक कर दी गई है।

नितिन पटेल ने कहा कि किसान संघ, किसान नेता व विधायकों की ओर से मुख्यमंत्री के समक्ष की मांग को ध्यान में रखकर यह निर्णय किया गया है। गुजरात सरकार ने इस बारे में केंद्र सरकार को अवगत किया था। केंद्र सरकार ने गुजरात सरकार के इस निर्णय को स्वीकार कर लिया है।

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के कारण व्यापार व उद्योग बंद हैं। मार्केट यार्ड का कामकाज भी ठप पड़ गया है। किसान अपना अनाज भी नहीं बेच पा रहे हैं। वहीं, दूसरी तरफ सरकारी और सहकारी बैकों द्वारा ऋण की अदायगी के लिए किसानों को नोटिस देना शुरू कर दिया हैं। इस कारण किसान की समस्याओं के निवारण के लिए सरकार ने यह निर्णय किया हैं। किसानों को सात प्रतिशत ब्याज पर ऋण मिलता है। केंद्र सरकार चार और राज्य सरकार तीन प्रतिशत ब्याज की अदायगी करेगी। यह सहायता दो महीने के लिए दी गई है।

गुजरात की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस